Nala News (Jamtara) 5 सूत्री मांगों को लेकर मनरेगा कर्मी सांकेतिक हड़ताल पर रहे


ग्राम समाचार नाला:
झारखंड राज्य मनरेगा कर्मी संघ के आह्वान पर आज नाला प्रखंड मुख्यालय के समीप मनरेगा कर्मियों ने अपनी 5 सूत्री मांगों को लेकर सांकेतिक हड़ताल पर रहे। कार्यक्रम का नेतृत्व झारखंड राज्य मनरेगा कर्मी संघ के प्रखंड अध्यक्ष तपस मंडल ने किया इस दौरान उन्होंने बताया कि 22 जून से 28 जून तक सरकार के मनमाने रवैए का विरोध प्रदर्शन किया गया वहीं आज से अर्थात 29 से लेकर 1 जुलाई तक सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे कर्मी 5 सूत्री मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं उन्होंने बताया कि स्थायीकरण अर्थात समान कार्य समान वेतन ,टारगेट देना बंद करें ,बिना कारण बर्खास्तगी बंद करें सहित अन्य मांगे शामिल है उन्होंने यह भी कहा कि इसके पूर्व 22 से 28 जून तक काला बिल्ला लगाकर हम लोगों ने कार्य किया और सरकार का विरोध प्रदर्शन किया ।उन्होंने यह भी कहा कि चतरा जिले में 14 मनरेगा कर्मी को बर्खास्त किया गया है जिसे पुनः बहाल करने की भी मांग हम लोगों ने की है। सरकार जो हम लोगों के विरोध में अभियान चला रहा है उसके विरोध में हम लोग निरंतर विरोध प्रदर्शन करेंगे ।उन्होंने यह भी कहा कि अगर सरकार द्वारा हमारी मांगों को लेकर  1 जुलाई तक सफल वार्ता नहीं होती है तो 2 जुलाई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए हम लोग भी विवश होंगे। उन्होंने यह भी कहा कि मनरेगा कर्मी अपने सभी कार्यों को कर्तव्य निष्ठा एवं समर्पण भाव से करने के बावजूद सरकार द्वारा हम लोगों को प्रताड़ित किया जा रहा है जो कि बर्दाश्त से बाहर है ऐसे निरंकुश शासन का हम लोग विरोध करते रहेंगे। आज के इस संकेतिक हड़ताल के दौरान प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी प्रदीप टोप्पो लेखा सहायक गौतम रूंस कनीय अभियंता रामरतन मुर्मू ,निशांत मरांडी, रोजगार सेवक नारायण बाद्यकर, स्वाधीन घोष, मनोज कुमार मंडल, वरुण गण, सोमनाथ मंडल , जितेंद्र कुमार मंडल ,शिवधन सोरेन,निर्मल कोल सहित अन्य कर्मी मौजूद थे।
गौतम ठाकुट, ग्राम समाचार, नाला

Share on Google Plus

Editor - रोहित शर्मा, जामताड़ा

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें