expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Mihijam News (Jamtara) कोरोना काल में भी रक्तदाता कर रहे हैं रक्तदान: सुमित कुमार


कोरोना योद्धा के रूप में रक्तदाताओं ने 100 यूनिट किया रक्तदान
ग्राम समाचार मिहिजाम:
कोविड-19 को लेकर देशव्यापी लॉकडाउन में डॉक्टर पुलिसकर्मी व अन्य आपने निस्वार्थ भाव से देश को बचाने में लगे हुए हैं। वही दूसरी ओर करोना काल के विकट परिस्थिति में लोगों को रक्त की आवश्यकता होती है, तो लोग रक्त के लिए इधर उधर भटकने को विवश हो जाते है। इसी को देखते हुए रक्तदान के लिए लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ निस्वार्थ भाव से जरूरतमंदों को रक्तदाता सुमित कुमार की ओर से लगातार जरूरतमंद लोगों को रक्त प्राप्त हो रही है। रक्तवीर के रूप में सुमित कुमार साव पिछले 2 साल से रक्तदान के क्षेत्र में निरंतर कार्य कर रहे। सुमित की संस्था रक्तदान महादान जामताड़ा जिले सहित चितरंजन में करोना काल में भी करोना योद्धा के रूप में अभी तक 100 यूनिट रक्तदान करवा चुके है। धनबाद के निवासी सुमित कुमार साव जो की पिछले 6 वर्षो से मिहिजाम में रह रहे हैं, इन्होंने तो रक्तदान की एक मुहिम ही छोड़ दी है। समय के विपरीत अर्थात लॉकडाउन जैसी विषम परिस्थिति में सुमित के समूह के द्वारा 69 यूनिट रक्तदान कराया गया। रक्तदान निम्नतः जामताड़ा में 38 यूनिट, चित्तरंजन के के०जी० होस्पिटल में 15 यूनिट एवं प्राइवेट नर्सिंग होम में 16 यूनिट संगलित करवाया है। संस्था रक्तदान महादान जामताड़ा व चितरंजन के संस्थापक सुमित कुमार साव स्वयं एक रक्तदाता है। उन्होंने अपनी 27 वर्ष की जीवन काल में कुल 27 बार रक्तदान किया है। उनके इस नेक कार्य के लिए उन्हें कई राज्यों के रक्तदान संस्थानों के द्वारा सम्मानित भी किया गया है। हाल ही में राजस्थान एवं पंजाब के रक्तदान समूह के द्वारा उन्हें सम्मान प्रस्तुत किया गया एवं 14 जून विश्व रक्तदान दिवस के उपलक्ष में जामताड़ा जिले के उपायुक्त गणेश कुमार एवं विधायक इरफान अंसारी के द्वारा सुमित को उनके नेक कार्य के लिए सम्मानित भी किया गया है। वही सुमित कुमार साव ने बताया कि हमारे संस्था के पास 200 रक्तदाता की सूची है, जो निरंतर रक्तदान करते हैं। जामताड़ा व चितरंजन ही नहीं बल्कि धनबाद, रांची, दुर्गापुर, आसनसोल, रानीगंज तक हमारी संस्था दूसरे रक्तदान समूह के प्रयास से रक्तदान संभव करवाते हैं। उन्होंने कहा कि युवा और स्वस्थ व्यक्ति के लिए रक्तदान से कोई नुकसान नहीं होता है। लेकिन बीमार के लिए रक्तदान नए जीवन की आशा है। इसलिए उसके जीवन को वापस देने के लिए रक्तदान अवश्य करें।
रोहित शर्मा, ग्राम समाचार, जामताड़ा
Share on Google Plus

Editor - रोहित शर्मा, जामताड़ा

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें