Bhagalpur News: श्री रामेश्वर लाल नोपानी सरस्वती विद्या मंदिर, में बाल विकास की बैठक आयोजित



ग्राम समाचार भागलपुर।गुरुवार को श्री रामेश्वर लाल नोपानी सरस्वती विद्या मंदिर, परबत्ती, भागलपुर, बिहार में भागलपुर विभाग के विभाग प्रमुख बजरंगी प्रसाद की अध्यक्षता में विद्यालय के आचार्यों के साथ बैठक सम्पन्न हुई । सर्वप्रथम अतिथि परिचय का कार्य प्रधानाचार्या अंजुश्री द्वारा किया गया। 

बैठक में बजरंगी प्रसाद ने आचार्य- दीदीजी को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षण प्रतिभा का विकास एवं आचार्यों को प्रोत्साहित करना शिक्षण की गुणवत्ता सुधारने के लिए महत्वपूर्ण है। हमारे आचार्य  किसी भी शैक्षिक प्रणाली के आधारशिला होते हैं। ऑनलाइन कक्षा से जो भैया/बहन नहीं जुड़ पाए हैं, उनकी चिंता करना है तथा उनके घर पर सम्पर्क कर समस्या का समाधान करना है,आचार्य का दायित्व है। अभिभावकों को संदेश देना चाहिए है कि हमारे कार्यों का मूल्यांकन करते हुए अपना कार्य करना है।आर्थिक संकट का समय है इसलिए गरीब बच्चों पर विचार करना है । प्रवासी श्रमिक के बारे मे चिंता करनी है कि उनके बालक कैसे पढ़ेंगे। शिक्षक की एक आवश्यक भूमिका भैया- बहनों एवं समाज को परामर्श या सलाह देना भी है । अभी ऐसी परिस्थिति के समय हमें धैर्य से कार्य करने की आवश्यकता है । 

आगे उन्होंने कहा कि अपने परिवार में परिवर्तन का समय आ गया है। चीनी सामानों का बहिष्कार करना है, स्वदेशी को अपनाना है। इसे भैया-बहनों के माध्यम से समाज को जागृत करना है। अभी भी कोरोना महामारी के उपाय का प्रयोग करते हुए अपने को स्वस्थ रखते हुए अपना कार्य करना है और आगे बढ़ना है ।

विद्यालय की प्रधानाचार्या अंजुश्री ने कहा कि लाॅकडाउन प्रारंभ से ही विद्यालय के आचार्य बंधु भगिनी भैया/बहनों को ऑनलाइन शिक्षा  नई-नई तकनीक के माध्यम से दे रहे हैं।  ऑनलाइन कक्षा से जो भैया/बहन नहीं जुड़ पाए हैं, उनकी चिंता करते हुए उनके अभिभावकों से सम्पर्क कर समस्या का समाधान किया जा रहा है। अभिभावक गोष्ठी भी किया गया, जिससे पता चल रहा कि अभिभावक भी संतुष्ट हैं।शिक्षण प्रमुख जयनिल झा एवं व्यवस्था प्रमुख सुमित रौशन द्वारा ऑनलाइन कक्षा एवं व्यवस्था से संबंधित बातें रखी गई ।

व्यवस्था सह प्रतियोगिता प्रमुख सुमित रौशन ने जानकारी देते हुए कहा कि शैक्षणिक गतिविधियों के साथ- विद्यार्थियों को रचनात्मक गतिविधियों में भागीदारी करनी चाहिए। जो कि सर्वांगीण विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है। विद्यालय द्वारा समय समय पर ऐसी क्रियात्मक कार्य, प्रतियोगिताएं आदि भी कराई जाती है।

शिक्षण प्रमुख जयनिल कुमार झा ने अपनी कक्षा व्यवस्था की जानकारी देते हुए बताया कि कक्षा अरुण से कक्षा दशम तक को तीन खंडों में विभाजित किया गया है। वाटिका खंड, शिशु मंदिर खंड और विद्या मंदिर खंड। तीनों खंड के प्रमुख के द्वारा कक्षा संचालन किया जा रहा है। तीनों खंड का अलग-अलग समय सारणी बना कर सभी विषयों की पढ़ाई विषयाचार्यों द्वारा कराई जा रही है। पढ़ाई के अलावा क्रियात्मक कार्य के साथ साथ प्रतियोगिताएं भी कराई जाती है।मंच संचालन सुमित रौशन ने किया। अंत में धन्यवाद ज्ञापन उपप्रधानाचार्य मुन्ना कुमार देव द्वारा किया गया ।

बैठक में विभाग प्रमुख बजरंगी प्रसाद, प्रधानाचार्या अंजुश्री, उप-प्रधानाचार्य श्री मुन्ना कुमार देव, शिक्षण प्रमुख जयनिल झा, व्यवस्था प्रमुख सुमित रौशन, इंदु झा, अशोक कुमार शर्मा, गणेश पासवान, रंजीत कुमार, गगन कुमार, नवल किशोर दास, बबिता मिश्रा, सोनी कुमारी, रीता कुमारी, अंजू कुमारी, कल्याणी साह आदि सम्मिलित हुए।
Share on Google Plus

Editor - रजनीश कुमार

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें