Rewari News : जन सहायक हैल्प मी एप से 1722 आवेदकों को मिली राहत : डीसी

ग्राम समाचार न्यूज़ : रेवाड़ी : हरियाणा : उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने कहा कि कोविड-19 जैसी वैश्विक महामारी की रोकथाम व बचाव हेतु प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा लांच की गई जन सहायक हैल्प मी एप से जिला रेवाड़ी के जरूरतमंद लोगों को काफी लाभ मिल रहा है। प्रशासन को जन सहायक हैल्प मी एप पर बुधवार शाम तक कुल 2491 आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें से 1722 आवेदनों पर अविलंब कार्यवाही करते हुए उनका समाधान करवा दिया गया तथा शेष आवेदनों पर कार्यवाही की जा रही है।
इन सेवाओं के लिए आए आवेदन : उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने बताया कि प्रशासन द्वारा जन सहायक हैल्प मी एप डैशबोर्ड की निरंतर निगरानी की जा रही है तथा जिस भी सेवा के लिए आवेदन प्राप्त होता है उस पर तुरंत कार्यवाही करते हुए आवेदनकर्ता की मदद की जाती है। प्रशासन को जन सहायक एप पर भोजन, आर्थिक सहायता, गेंहू-सरसों ई-खरीद, एलपीजी सिलेंडर, चिकित्सक सहायता, शैल्टर आवश्यता, मूवमेंट पास, राशन, एंबुलैंस रिक्वेस्ट जैसी सेवाओं से संबंधित आवेदन प्राप्त हो रहे हैं। उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने कहा कि आमजन गूगल प्ले स्टोर से अपने स्मार्टफोन पर जनसहायक हैल्प मी एप डाउनलोड कर कोविड के दौरान शुरू की गई सेवाओं व योजनाओं का लाभ अपने घर बैठे ले सकते हैं। एप के माध्यम कोविड की रोकथाम व बचाव के लिए किए जा रहे विभिन्न उपायों व जन हितार्थ कार्यो में इच्छुक व्यक्ति किसी प्रकार मदद भी दे सकते हैं। यह एप हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में उपलब्ध है और इसे प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। 
जनसहायक हैल्प मी एप पर उपलब्ध मुख्य सेवाएं : जनसहायक हैल्प मी एप के माध्यम से जरूरतमदं व्यक्ति भोजन, राज्य सरकार के किसी भी डेटा बेस में जिस व्यक्ति का नाम नहीं है वह राशन के लिए आवेदन कर सकता है। आवदेक को एप के माध्यम से डिस्ट्रेस राशन टोकन उपलब्ध कराया जाता है ताकि वह ओपीएच केटेगरी के बराबर डिपो होल्डर से निशुल्क राशन प्राप्त कर सके। भोजन के लिए एप पर प्राप्त आवेदन कर्ता को प्रशासन व सामाजिक संस्थाओं के माध्यम भोजन उपलब्ध कराया जाता है। यशेन्द्र सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य संबंधी सेवा का आवेदन करने पर एप के माध्यम से टेेलिमैडिसन सेवाओं से आवेदक को जोड़ दिया जाता है ताकि वह डाक्टर से निशुल्क सलाह ले सके। एप के माध्यम से शैल्टर होम सेवाएं व रिलीफ  कैंप, आर्थिक सहायता, वेजिज संबंधित शिकायत निवारण, सरसों व गेंहू की  बिक्री के लिए ई-खरीद पर स्लोट बुंकिंग आदि सेवाएं उपलब्ध हैं। डीसी ने बताया कि हैल्प मी एप के माध्यम से आवश्यक सेवाओं जैसे मैडिकल चैक अप के लिए आवागमन, डैथ इन फैमिली, उद्यमियों व दुकानदारों के लिए ई-पास की सुविधा भी दी जा रही है। साथ ही वालंटियर  जो कोविड के दौरान अपनी सेवाएं देने के इच्छुक व हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में दान भी एप के माध्यम से कर सकते हैं। किसी जरूरतमंद तक राशन पहुंचाना हो, विद्यार्थियों की ई-लर्निंग  स्कूल, कॉलेज, तकनीकी शिक्षा या कोशल विकास के क्षेत्र में अपना योगदान देने के इच्छुक व्यक्ति इस एप के माध्यम से आसानी से कर सकते हैं।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें