चांदन न्यूज: घटिया मटेरियल से बना ग्रामीण पुलिया ध्वस्त, कई गांवों का संपर्क टूटा आवागमन हुआ बाधित

ग्राम समाचार,चांदन,बांका। जिले के चांदन प्रखंड क्षेत्र के बिरनिया पंचायत अंतर्गत कदरसा गांव से जमनी गांव जाने वाली मुख्य मार्ग के नदी पर बना पुलिया का पाया (दीवार) टूटकर नदी में गिर गया। जिससे आने जाने वाले वाहनों भारी कठिनाई उत्पन्न हो गई है। जहां क्षेत्र के लोग उस पुल के ऊपर से दोपहिया वाहनों का भी आवागमन हथेली पर जान लेकर चलना पड़ रहा है। कभी भी जमनी गांव जाने के क्रम में किसी वक्त किसी के साथ अनहोनी होने की संभावना बनी हुई है। जबकि यह पुल हाल ही में मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनाया गया है। लेकिन विभागीय उदासीनता लापरवाही के कारण पुल कि स्थिति जर्जर हो चुका है। जहां पुल के क्षतिग्रस्त होने पर दर्जनों गांव के लोग आवागमन करने के अपनी दुर्घटना महसूस कर रहे हैं। पुल क्षतिग्रस्त हो 

जाने से मुरलाडीह, आदिवासी टोला, जमनी चौधरी टोला, कदरसा महादलित टोला, होते हुए झींगाझाल, झारखंड बॉर्डर, एवं चांदन प्रखंड मुख्यालय, चांदन थाना, चांदन पीएचसी, आने जाने का संपर्क टूट गया है। जबकि इसी रास्ते से प्रसव पीड़ा से पीड़ित एंबुलेंस, आदि सरकारी दफ्तर आते जाते हैं। जमनी गांव के  दिनेश मंडल, जय किशोर चौधरी, जागो मंडल, सिया राम चौधरी, सहित दर्जनों लोगों ने कहा कि पुल क्षतिग्रस्त होने से हम लोगों को खेती के सीजन में चांदन बाजार पैदल ही जाना पड़ेगा, सर्वे का कार्य किया जा रहा है सरकारी कार्यालयों में भी जाने के लिए दूसरा रास्ता नहीं है। वहीं खेतों की जुताई व फसल ढोने के लिए ट्रैक्टर नहीं जाने से किसानों को परेशानी बढ़ेगी।जदयू के प्रखंड अध्यक्ष दीपक चौधरी ने बताया कि वर्तमान बेलहर विधायक मनोज प्रसाद यादव को पुल ध्वस्त हो जाने की सूचना दी गई है, लेकिन आज तक ध्वस्त हुए पुल की मरम्मत नहीं पाया है।

उमाकांत साह,ग्राम समाचार संवाददाता,चांदन।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education