expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Online Education


Rewari News : निजी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते 4 कोरोना मरीजों ने तोडा दम, परिजनों ने जमकर हंगामा किया

रेवाड़ी में कोरोना का कोहराम। रविवार को 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत की खबर। निजी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते 4 कोरोना मरीजों ने तोडा दम। निजी अस्पताल में परिजनों ने जमकर हंगामा किया। अस्पताल के बाहर सड़क पर जाम लगाया। एसडीएम-डीएसपी समेत अस्पताल में पुलिस बल मौजूद।



देश में कोरोना संक्रमण तेज़ी से अपने पैर पसार रहा है। देश और प्रदेश से हर रोज़ चौकाने वाले मामले सामने आ रहे है। रविवार को कोरोना का कोहराम देखने को मिला। प्रदेश के रेवाड़ी जिले में अकेले सात मरीजों की कोरोना से मौत होने की खबर मिली। निजी अस्पताल में भर्ती इनमे चार मरीजों ने ऑक्सीजन की कमी के कारण दम तोड दिया। चार मरीजों की मौत से गुस्साए परिजनों ने न केवल अस्पताल में जमकर हंगामा किया बल्कि अस्पताल के बाहर सर्कुलर रोड पर जाम लगा दिया। अस्पताल प्रबंधन की और से पीआरओ धर्मेंद्र यादव ने बताया कि उनके पास ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं है इसके लिए उन्होंने कोविड-19 के नोडल अफसर से फ़ोन पर बात की तो उन्होंने जवाब दिया कि वे कुछ नहीं कर सकते। अस्पताल प्रबंधन के सदस्य गौरव यादव ने बताया कि ऑक्सीजन की गाड़ी को सरकारी अस्पताल द्वारा रास्ते में रुकवाया गया जिस कारण ऑक्सीजन समय पर नहीं मिली। इन सबके के लिए सीएमओ और उनका स्टाफ जिम्मेदार है। 



वहीँ इस पुरे मामले पर अपनी लापरवाही को मानने से इंकार करते हुए मीडिया के सामने सिविल सर्जन डॉ सुशील कुमार माहि ने कहा कि ऑक्सीजन की कोई कमी न हो इसके लिए वे अपने पूरे स्टाफ के साथ व्यवस्था करने में लगे हुए है। पानीपत से कल पांच मीट्रिक टन ऑक्सीजन अलॉट हुई थी लेकिन तीन मीट्रिक टन भेजी गई थी अब सप्लाई कोटा कम कर दिया गया है। फ़ोन नहीं उठाने के सवाल पर कहा कि वे कोविड मैनेजमेंट की बैठक में व्यस्त थे। ऑक्सीजन की कमी के कारण कोरोना मरीजों की मौत पर कहा कि इस मामले की जाँच होगी। वहीँ कोरोना मामले में ऑक्सीजन की किल्लत पर विपक्ष भी सरकार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा। रेवाड़ी में ऑक्सीजन की कमी से एक साथ चार मौत की सूचना पाकर पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता कैप्टन अजय यादव भी विराट अस्पताल पहुंचे और पूरे मामले की पड़ताल की। इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी पर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के सचिव राजीव अरोड़ा से बात की। उन्होंने इस मामले की जाँच की मांग करते हुए कहा कि फ़ोन पर न डीसी उपलब्ध है न सीएमओ। सरकार से मांग की कि ऑक्सीजन की कमी को पूरा किया जाये। कोरोना मरीज की ऑक्सीजन की कमी से मौत के बाद परिजनों में भरी रोष व्याप्त हो गया और उन्होंने कार्रवाई की मांग को लेकर सर्कुलर रोड पर जाम लगा दिया। मृतक के परिजनों ने कहा की प्रशासन ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं कर रहा है। 



सरकार के पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन होने के दावे उस वक्त धरे के धरे रह गए जब ऑक्सीजन की कमी के कारण 4 कोरोना संक्रमित मरीजों ने दम तोड़ दिया मीडिया में खबर दिखाए जाने के बाद प्रसासन और स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया और आधे घंटे के बाद ही ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर एक गाड़ी अस्पताल पहुंची इस गाड़ी में 20 ऑक्सीजन सिलेंडर अस्पताल में लाए गए अस्पताल का कहना है कि अस्पताल को जो सिलेंडर मिले हैं उससे अस्पताल की 1 घंटे तक ही पूर्ति हो पाएगी इस अस्पताल में 100 से अधिक मरीज भर्ती है अस्पताल संचालक का कहना है कि लगातार प्रशासनिक अधिकारियों को ऑक्सीजन की कमी होने की सूचना दी जा रही थी लेकिन अधिकारियों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया ऑक्सीजन खत्म होने के बाद 4 मरीजों ने दम तोड़ दिया और अधिकांश मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है। हालाँकि इस घटना के बाद उपायुक्त अजय कुमार ने रविवार को विराट हस्पताल में हुई घटना की जांच के लिए अतिरिक्त उपायुक्त राहुल हुड्डा के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया है जो मामले कि जाँच 48 घंटे के अन्दर के अन्दर कर अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे। 
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें