expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bhagalpur News:शिक्षकों की समस्याओं को लेकर जिला शिक्षा पदाधिकारी से मिला प्रारंभिक माध्यमिक शिक्षक संघ का प्रतिनिधिमंडल, विद्यालय निरीक्षण की संख्या तय किये जाने सहित विभिन्न समस्याओं के निराकरण की मांग


ग्राम समाचार, भागलपुर। प्रारंभिक माध्यमिक शिक्षक संघ भागलपुर के एक प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को जिला शिक्षा पदाधिकारी से मिलकर जिले के शिक्षकों के विभिन्न समस्याओं के संबंध में एक मांग पत्र सौंपते हुए उसके निराकरण की मांग की। संगठन ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को विभिन्न निरीक्षी पदाधिकारियों द्वारा एक एक कार्य दिवस में 20-25 की संख्या में किए जा रहे विद्यालय निरीक्षण पर चिंता जाहिर करते हुए निरीक्षण के वास्तविक उद्देश्य के प्रतिकूल सिर्फ छात्र शिक्षकों के लिए उपस्थिति अनुपस्थिति की गिनती पर विरोध जताते हुए पदाधिकारी से यह सुनिश्चित करने की मांग की, कि विद्यालय निरीक्षण से विद्यालय, छात्र एवं शिक्षकों को लाभ दिखना चाहिए तथा निरीक्षी पदाधिकारियों के निरीक्षण प्रतिवेदन में स्पष्ट रूप से विद्यालय, छात्र और शिक्षकों की समस्याओं और उसके निराकरण के लिए विभागीय निरीक्षी पदाधिकारियों के प्रयासों की भी चर्चा की जानी चाहिए। साथ ही पदाधिकारी यह सुनिश्चित करें कि निरीक्षी पदाधिकारियों द्वारा अधिकतम कितने विद्यालयों का निरीक्षण एक कार्य दिवस में किया जा सकता है। विद्यालय निरीक्षण का उद्देश्य दमनात्मक कारवाई नहीं वरन सुधारात्मक प्रतीत होना चाहिए, इसके साथ ही संगठन द्वारा पदाधिकारी को अवगत कराया गया कि निदेशक प्रशासन के पत्र के आलोक में विद्यालय अवधि बाद विभिन्न पदाधिकारियों द्वारा कार्यालय में रोके जाने पर अथवा अवकाश स्वीकृति पश्चात कार्यालय आने के आदेश जारी किये जाने पर संगठन द्वारा विरोध प्रगट किया गया कि विद्यालय अवकाश अवधि में शिक्षा पदाधिकारियों द्वारा अवकाश स्वीकृति पत्र की मांग किया जाना अन्यायपूर्ण है। संगठन द्वारा प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी कहलगांव द्वारा बीते 16 दिसंबर को अपराहन 2:10 पर एक ही तिथि और एक ही समय में मध्य विद्यालय बंसीपुर, प्राथमिक विद्यालय देवरी महेशपुर, प्राथमिक विद्यालय अनुसूचित जाति टोला और मध्य विद्यालय बभनियां के निरीक्षण किये जाने और उक्त निरीक्षण प्रतिवेदनों के आधार पर शिक्षकों के वेतन बंद किए जाने पर रोष प्रकट किया गया तथा ऐसे फर्जी निरीक्षणों और निरीक्षी पदाधिकारियों के विरुद्ध कारवाई की मांग की गई। ज्ञात हो कि प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी कहलगांव द्वारा प्रखंड के पंचायत प्रखंड शिक्षकों के बैंक लोन कागजात पर हस्ताक्षर और योग्यता विस्तार से संबंधित आदेश निर्गत नहीं किया जाता तथा शिक्षकों से अमर्यादित भाषा में व्यवहार करने की शिकायत दर्ज की गई। इसके साथ ही प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी शाहकुंड के प्रखंड मुख्यालय में उपस्थित नहीं होने की स्थिति में प्रखंड के प्रधानाध्यापकों के अवकाश स्वीकृति एवं शिक्षकों के विभिन्न कार्यों के निष्पादन में हो रहे कठिनाई पर भी व्यापक चर्चा की गई। इसके साथ ही संगठन द्वारा जिले के नियमित और पंचायत प्रखंड शिक्षकों के विविध माह और विविध मद के बकाया अंतर राशि भुगतान पर भी चर्चा की गई तथा इसके शीघ्रता शीघ्र भुगतान की मांग की गई, संगठन द्वारा खरीक प्रखंड के मध्य विद्यालय अलालपुर कि प्रखंड शिक्षिका ममता कुमारी के मातृत्व अवकाश उपभोग के 4 वर्ष बाद भी उक्त अवधि के वेतन भुगतान नहीं होने पर चिंता व्यक्त की गई। इसके साथ ही सुल्तानगंज नगर परिषद के शिक्षकों के विगत 5 माह से वेतन भुगतान नहीं होने तथा इन शिक्षकों के वेतन भुगतान में आए दिन हो रहे परेशानियों कठिनाइयों पर भी व्यापक चर्चा की गई। संगठन द्वारा वर्ष 2019 में फेस टू फेस माध्यम से निष्ठा प्रशिक्षण प्राप्त नगर निगम,नाथनगर, कहलगांव आदि के शिक्षकों को प्रमाण पत्र और यात्रा भत्ता की राशि का भुगतान भी नहीं किए जाने पर भी चर्चा की गई, पदाधिकारी द्वारा उक्त सभी मांगों पर गंभीरतापूर्वक चर्चा करते हुए उचित आवश्यक कारवाई का आश्वासन दिया गया। प्रतिनिधिमंडल में जिला अध्यक्ष डॉ शेखर गुप्ता,  प्रधान सचिव अनोज रजक, जिला सचिव प्रभाकर मतवाला, राकेश चौरसिया, परमानंद चौधरी, अर्जुन प्रसाद, महिला शिक्षिका प्रमुख शालिनी रघुवंशम, बासुदेव जी, रामदेव मंडल, विकास पोद्दार, जमादार दास, सुबोध दास, पंकज मणि, मो. मोइनउद्दीन आदि शामिल थे।



Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें