expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : आईटीआई पास शिक्षुओं को औधोगिक इकाइयों में लगाने का लक्ष्य करें पूरा : डीसी



रेवाड़ी, 25 फरवरी। राज्य सरकार की योजना के अनुसार जिला में आईटीआई पास छात्रों को विभिन्न औद्योगिक इकाइयों व सरकारी विभागों में प्रशिक्षु लगाया जाएं, जिसके लिए सभी विभागों व औद्योगिक ईकाईयों के अधिकारी पोर्टल पर प्रशिक्षुओं की रिक्तियां दशार्एं ताकि सरकार की हिदायतों के अनुसार प्रशिक्षु लगाने का कार्य पूरा किया जा सके। उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने आज जिला सचिवालय सभागार में इस संबंध में विभिन्न विभागों व औद्योगिक इकाइयों के प्रतिनिधियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि जो विभाग व कम्पनियां प्रशिक्षुओं को नहीं रख रही है, उनको नोटिस दिया जाएं। उन्होंने कहा कि पोर्टल पर प्रशिक्षुओं को आवेदन करना है इसलिए पहले सभी विभाग पोर्टल पर अपनी रिक्तियां दर्शाएं। अगर पोर्टल के संबंध में कोई तकनीकी दिक्कत है तो आईटीआई रेवाड़ी में संपर्क करें। यशेन्द्र सिंह ने कहा कि सभी विभागों व औधोगिक इकाइयों को अपने कुल पदोंं के 5 से 15 प्रतिशत तक प्रशिक्षु रखने हैं। सरकार द्वारा यह बहुत ही अच्छी योजना चलाई गई है इससे एक तरफ जहां विद्यार्थियों को कोर्स करने के बाद प्रैक्टिकल करने को मिलता है वहींं औद्योगिक इकाइयों को भी इन प्रशिक्षुओं से काफी सहायता मिलती है। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी को समय पर रोजगार उपलब्ध होगा तो वे अपने परिवार को खुशहाल बनाने के साथ-साथ सही मार्ग पर चलेंगे। बैठक में एसडीएम कोसली कुशल कटारिया, एसडीएम बावल मनोज कुमार, सीटीएम रोहित कुमार, सीएमजीजीए डॉ मृदुला सूद, डीएसपी हंसराज, तहसीलदार प्रदीप देशवाल, एलडीएम भूपेन्द्र, आईटीआई रेवाडी प्रिंसिपल एवं सहायक शिक्षुता सलाहकार सुनील कुमार सहित विभिन्न औधोगिक इकाइयों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें