expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Lalmatiya news- राजमहल परियोजना प्रवंधन,प्रशसन एवं ग्रामीण आमने सामने


ग्राम समाचार ललमटिया (गोड्डा)। एशिया का ओपन कोयला खदान राजमहल परियोजना इन दिनों जमीन को लेकर संघर्षरत हैं।
परियोजना पदाधिकारी के लाख कोशिश के बावजूद  ग्रामीण परियोजना को जमीन देने के लिए तैयार नहीं है। जिससे परियोजना के समक्ष विकट समस्या उतपन्न हो गई है।



ग्रामीणों का कहना है कि परियोजना प्रबंधन हमेशा से ग्रामीणों को छलने का काम किया है।

जब भी भूमि अधिग्रहन की बात होती है तो ग्रामीणों को आपस में लड़वाकर फुट कराकर काम निकाल लेते हैं। लेकिन इसबार उनकी दाल नहीं गाल रही है।


ग्रामीणों का कहना है कि परियोजना प्रबधन हमेसा से कानून का उल्लंघन करते आए है। जिसके कारण पूर्व में विस्थापित हुए कई गांव के ग्रामीण जमीन देने का दंश झेल रहा है।

 

इन्हीं कारणों से राजमहल परियोजना में ग्रामीण जमीन देने से इंकार कर रहे हैं। दो महीने पूर्व तीन गांव के ग्रामीणों ने लाल झंडा गाड़ कर अपनी जमीन का सीमांकन किया था कि इससे आगे परियोजना का कार्य नहीं बढ़ेगा। जिसके चलते परियोजना के सामने जमीन को लेकर विकट समस्या उत्पन्न हो गई थी।


शुक्रवार को राजमहल परियोजना ललमटिया को उत्खनन के लिए तालझारी मौजा के आदिवासियों के जमीन पर कब्जा दिलाने के लिए महागामा sdo जितेंद्र कुमार देव, एसडीपीओ के के सिंह सहित बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों के साथ खनन स्थल पर पहुँची थी। जहां रैयत व ग्रामीणों का भारी विरोध का सामना करना पड़ा। 


ग्रामीणों को खनन करने की जानकारी होते ही सैकड़ो की संख्या में परम्परागत हार्वे हथियारों के साथ खनन स्थल पर पहुंच कर खनन कार्य को रोक दिया गया। 

ग्रामीणों को बैगर जानकारी दीए खनन कार्य शुरू करने से ग्रामीणों में भारी आक्रोश है। कहा कि परियोजना प्रबंधन पैसा कानून का उलटिंग कर रहा है।


काफी जद्दो जहद के बाद ग्रामीणों द्वारा उठाए गए मांग पर एक लिखित प्रतिबद्धता कर खनन स्थल से प्रशासन को बेरंग वापस लौटना पड़ा।

ग्रामीणों की मुख्य माँग

1, अंचल द्वार निर्गत किए गए गलत बनशवली को रद्द किया जाय।

2, ग्राम प्रधान के बैगर इजाजत के पहाड़पुर स्कूल में भारी संख्या में रह रहे पुलिसबल को वापस भेजा जाय।

3, तालझारी मौजा में बैगेर इजाजत के काटे गए जमीन को समतल कर वापस कर देंगे।

4, तालझारी और भेरानंडा गाँव के निर्दोष ग्रामीणों पर किए गए मुकदमे वापस ले।

5, बहुफसली जमीन को तालझारी, भेरानंडा और पहाड़पुर के ग्रामीणों ने खनन के लिए जमीन नहीं देने का निर्णय को उच्च अधिकारियों को सूचित करते हुए जमीन की सुरक्षा की मांग की है। 

                - ग्राम समाचार ललमटिया (गोड्डा)।



 

Share on Google Plus

Editor - Editor

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें