expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bounsi News: सरस्वती की पूजा को लेकर मूर्ति कारों द्वारा मूर्ति निर्माण प्रारंभ

 ग्राम समाचार, बौंसी, बांका। विद्या दायिनी मां सरस्वती की पूजा को लेकर मूर्तिकारों द्वारा मूर्ति निर्माण प्रारंभ कर दिया गया है। मालूम हो कि फरवरी माह के 16 तारीख को सरस्वती पूजा है। मूर्तिकारों के द्वारा एक माह पहले से ही मूर्तियां तैयार की जा रही है। हालांकि इस वर्ष कोरोना के कारण मूर्ति कारों के द्वारा भी कम मूर्तियां तैयार की जा रही है। उनके 

द्वारा बताया जा रहा है कि, सही कीमत नहीं मिलने और मूर्तियों की बुकिंग आरंभ नहीं होने के कारण ऐसी स्थिति उत्पन्न हो रही है। साथ ही यह भी बताया गया कि कुल 85 पीस मूर्तियां इस वर्ष बनाई गई है। जिसमें सिर्फ पांच पीस मूर्ति की बुकिंग हो पाई है। प्रखंड क्षेत्र में 1000 से ज्यादा सरस्वती प्रतिमा की बिक्री होती है। स्थानीय मूर्तिकार थाना कॉलोनी निवासी नरेश पंडित का कहना है कि, उनके पास सबसे कम कीमत की मूर्ति हजार रुपए से आरंभ होगी। मूर्ति निर्माण में मिट्टी झारखंड के पौरैया हाट थाना क्षेत्र अंतर्गत आमलो फसिया से मंगाई जाती 

है। जो काफी महंगा पड़ता है। बताया गया कि, एक ट्रैक्टर मिट्टी में करीब 85 मूर्ति तैयार की जाती है। मिट्टी की अनुमानित कीमत 3500 होती है। इसके अलावा इतनी मूर्ति को बनाने में करीब ₹2000 का 1000 पीस पुआल, 32 पीस बांस, 3 क्विंटल भूसा के साथ-साथ 15 किलो रस्सी, करीब ₹20000 का विभिन्न रंगों का पेंट और कपडे एवं 7 किलो कील, 2 क्विंटल लकड़ी व अन्य सामग्री रहती है। मूर्तिकार नरेश पंडित ने बताया की, मूर्ति निर्माण में पुत्र जितेंद्र पंडित के साथ साथ, पत्नी रेखा देवी, पुत्र वधू रूपम कुमारी भी सहयोग करती है। अपनी कलाई की कला को मूर्ति निर्माण में उकेरने का काम आरंभ कर दिया है।

 कुमार चंदन, ग्राम समाचार संवाददाता, बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें