expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Sonipat News : सहकारिता मंत्री ने गोहाना व सोनीपत की चीनी मिलों के पिराई सत्र का किया शुभारंभ


सोनीपत/गोहाना, 16 नवंबर। हरियाणा के माननीय सहकारिता एवं अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री डा. बनवारी लाल ने कहा कि मुख्यमंत्री से मिले प्रोत्साहन व किसानों के विशेष सहयोग से इस बार हरियाणा में चीनी मिलों को निर्धारित समय से पहले शुरू किया जा रहा है। इससे निश्चित तौर पर चीनी मिलों को घाटा कम होगा, जिससे मिलों को बेहतरीन एवं सुचारू रूप से चलाने में मदद मिलेगी। जबकि पहले चीनी मिल अपने निर्धारित समय से देरी से प्रारंभ होती थी।

प्रदेश के सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल सोमवार को गोहाना व सोनीपत के गन्ना उत्पादक  किसानों को संबोधित बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।  उन्होंने आहुलाना (गोहाना) स्थित चौ. देवीलाल सहकारी चीनी मिल तथा सोनीपत की सहकारी चीनी मिल के पिराई सत्र 2020-21 का शुभारंभ करते हुए गन्ना किसानों को बधाई दी। उन्होंने कहा रिकवरी रेट को बेहतर करने के लिए चीनी मिल जल्दी शुरु की गई हैं। पलवल की चीनी मिल एक महिना दस दिन पहले शुरु की जा चुकी है। निश्चित तौर पर इसके बेहतरीन परिणाम मिलेंगे।



डा. बनवारी लाल ने कहा कि मुख्यमंत्री ने मनोहर लाल ने गन्ना किसानों को दिवाली का शानदार तोहफा देते हुए गन्ना कीमतों में प्रति क्विंटल दस रुपये की बढ़ोतरी की है। इससे गन्ना उत्पादक किसानों को खासा मुनाफा मिलेगा। उन्होंने कहा कि चीनी मिल के लिए 10.5 का रिकवरी रेट निर्धारित किया गया है, जिसे हासिल किया जाएगा। पूर्ण पारदर्शिता स्थापित करते हुए ऑनलाईन व्यवस्था प्रारंभ की गई है। अब किसानों को मोबाईल ऐप के माध्यम से हर प्रकार की जानकारी दी जाती है, जिससे किसी भी प्रकार की गड़बड़ी की आशंकाओं पर विराम लगाया गया है। किसानों को भुगतान भी सीधा उनके बैंक खातों में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसानों के गन्ने की पोरी-पोरी खरीदी जाएगी। जनवरी माह में किसानों के गन्ना बोंड की फिजीकल वैरिफिकेशन करवायेंगे। साथ ही उन्होंने सोनीपत के गन्ना किसानों व निदेशक मंडल की मांगों को पूरा करवाने का आश्वासन देते हुए कहा कि 15 दिन के भीतर यहां अटल कैंटिन की स्थापना के निर्देश दिए गए हैं। अटल कैंटिन में किसानों-मजदूरों को मात्र दस रुपये में भरपेट भोजन मिलेगा।



सहकारिता मंत्री ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल किसानों से सबसे बड़े हितैषी हैं, जिन्होंने हर कदम किसान हित में उठाया है। तीन कृषि कानून भी पूर्ण रूप से किसान हित में है। उन्होंने सवाल किया कि क्या मंडियां बंद हुई, क्या एमएसपी खत्म हुआ। उन्होंने कहा कि विपक्ष  ने केवल किसानों को भ्रमित करने के लिए अफवाहें फैलाई। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना तथा किसान समृद्धि योजना किसानों के लिए अत्यधिक लाभकारी योजनाएं हैं, जिनका पूर्ण लाभ किसानों को उठाना चाहिए। आत्मनिर्भर भारत की दिशा में तीव्रता से आगे बढ़ रहे हैं। किसान भी खेती के माध्यम से ही आत्मनिर्भर बनेंगे। किसानों को बिना गारंटी ऋण योजना का भी पूर्ण लाभ उठाते हुए खेती की बेहतरी व जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिए कदम बढ़ाने चाहिए।

सोनीपत के सांसद रमेश कौशिक ने पिराई सत्र की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मिल की क्षमता को बढ़ाया गया है। मिल को सुचारू रूप से चलाने के लिए आवश्यकताओं को पूरा किया जाएगा। किसानों को किसी प्रकार की समस्या नहीं होने देंगे। उन्होंने किसानों व मिल प्रबंधन को प्रोत्साहित किया कि एकजुटता के साथ मिल चलाने का काम करें, ताकि बेहतरीन रिकवरी मिले। शुगरफैड हरियाणा के अध्यक्ष एवं शाहबाद के विधायक रामकरण ने समय से पहले चीनी मिल चलाने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल व सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल का विशेष रूप से आभार प्रकट किया। उन्होंने गन्ना कीमतों में वृद्धि के लिए भी धन्यवाद किया। भाजपा के जिलाध्यक्ष एवं राई हलका विधायक मोहनलाल बड़ौली ने किसानों का आश्वस्त किया कि उन्हें हर प्रकार की सुविधा मिलेगी। साथ ही उन्होंने विश्वास जताया कि एकजुट प्रयासों निर्धारित रिकवरी रेट हासिल किया जाएगा।

सहकारी चीनी मिल के चेयरमैन एवं उपायुक्त श्याम लाल पूनिया ने पिराई सत्र की बधाई देते हुए कहा कि पिछले सीजन 2019-20 के तहत 29.56 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करते हुए 9.15 प्रतिशत रिकवरी की दर से 2 लाख 70 हजार 400 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया गया था। इस वर्ष रिकवरी में बढ़ोतरी की जाएगी, जिसके लिए गन्ना विकास योजना तैयार की गई है। पिराई सत्र 2020-21 के अंतर्गत चीनी मिल के पास पर्याप्त मात्रा में गन्ना है। मिल क्षेत्र में गन्ने की बोंडिंग 35.20 लाख क्विंटल की गई है और 35 लाख क्विंटल गन्ना पिराई का लक्ष्य रखा गया है।

सहकारी चीनी मिल सोनीपत के प्रबंध निदेशक सुरेंद्र सिंह दून तथा चौ. देवीलाल सहकारी चीनी मिल आहुलाना के प्रबंध निदेशक आशीष कुमार ने अपनी-अपनी मिलों की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की। श्री दून ने जानकारी दी कि वर्तमान में मिल की पिराई क्षमता 22 हजार क्विंटल प्रति दिन है। मिल के पास 2239 पंजीकृत किसान है और मिल में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप में करीब 700 लोगों को रोजगार दिया गया है।

इस अवसर पर शुगरफैड के फाईनेंशियल एडवाईजर विरेंद्र ढूल, अनिल झरोंठी, आजाद सिंह नेहरा, नीरज आत्रेय, चरण सिंह जोगी सहित संंबंधित अधिकारी व गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

सीजन 2019-20 में सर्वाधिक गन्ना आपूर्ति करने वाले किसानों को किया पुरस्कृत:

पिराई सत्र के शुभारंभ समारोह में सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल ने गत सीजन 2019-20 के अंतर्गत मिल गेट पर सबसे अधिक गन्ना आपूर्ति करने वाले किसानों को सम्मानित किया। मेंहदीपुर के किसान सुनील (16704 क्विंटल गन्ना) को प्रथम तथा मुरथल के सुरेश कुमार को (16588 क्विंटल गन्ना) द्वितीय पुरस्कार से सुशोभित किया गया। इसी प्रकार पिछले सीजन 2019-20 में बाह्य गन्ना खरीद केंद्रों में सबसे अधिक गन्ना आपूर्ति करने वाले किसानों को भी सम्मानित किया गया,  जिसमें प्रथम पुरस्कार बेगा के यूनिस अली (13806 क्विंटल गन्ना)  ने जीता तथा द्वितीय पुरस्कार बेगा के ही  इकबाल (8947 क्विंटल गन्ना) को मिला।

सबसे पहले बुग्गी व ट्रैक्टर-ट्रॉली लाने वाले किसान भी किये गये सम्मानित:

गन्ना यार्ड में बुग्गी तथा ट्रैक्टर-ट्रॉली में सबसे पहले गन्ना लाने वाले किसानों को भी सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल ने सम्मानित किया। वर्ष 2020-2021 के तहत सहकारी चीनी मिल के गन्ना यार्ड में बुग्गी पर सबसे पहले जाहरी के बलवान तथा ट्रैक्टर-ट्रॉली में गढ़ी बाला के सुंदर गन्ना लेकर आये। इन दोनों किसानों को विशेष रूप से सम्मानित किया गया।

निदेशक मंडल के सदस्यों को किया सम्मानित:



सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल ने सहकारी चीनी मिल के निदेशक मंडल के सभी सदस्यों को शॉल भेंट कर सम्मानित किया। इनमें कामी की कमला देवी, बबीता, मुरथल के सुरेश, अकबरपुर बारोटा के दयानंद, सिसाना के जगमेंद्र, बिधलान के राजकुमार, भठगांव के बलबीर, पिनाना के नरेंद्र मलिक, जुआं के संदीप तथा जाहरी के रणबीर सिंह और जाहरी के ही राज सिंह शामिल रहे। अंत में मंत्री डा. बनवारी लाल ने मशीन का बटन दबाकर पिराई सत्र का शुभारंभ किया।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें