expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

एकेडमिक काउंसिल की बैठक में परीक्षा और नामांकन पर लिए गए कई अहम निर्णय

ग्राम समाचार, भागलपुर।तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के सीनेट हॉल में बुधवार को एकेडमिक काउंसिल की बैठक टीएमबीयू के कुलपति प्रो. एके सिंह की अध्यक्षता में आयोजित हुई। विद्वत परिषद की बैठक में विभिन्न परीक्षाओं के संचालन तथा स्नातक सत्र 2020-2023 पार्ट- वन में नामांकन सहित कई अहम निर्णय लिए गए। कुलपति की अध्यक्षता में आयोजित एकेडमिक काउंसिल की बैठक में सदस्यों ने सर्वसम्मति से बीएड की परीक्षा, स्नातक पार्ट थ्री की परीक्षा और पीजी सेमेस्टर टू की परीक्षा का आयोजन कराने का निर्णय लिया। परीक्षा आयोजन में सोशल डिस्टेंसिग और कोविड-19 को लेकर सरकार के गाइड लाइन का पालन किया जाएगा। उपरोक्त सभी परीक्षाओं का आयोजन (बीएड, पीजी सेमेस्टर-टू और स्नातक पार्ट-थ्री ) सितम्बर माह में कराने का निर्णय लिया गया। वहीं पीजी सेमेस्टर फोर का इंटरनल और फाइनल परीक्षा का आयोजन एक साथ कराने को लेकर राजभवन सचिवालय से अनुमति ली जाएगी। इसके लिए सर्वसम्मति से निर्णय पारित हुआ। निर्णय लिया गया कि छात्रहित में पीजी वन के छात्रों को सेमेस्टर टू में, सेमेस्टर टू के छात्रों को सेमेस्टर थ्री और सेमेस्टर थ्री के छात्रों को सेमेस्टर फोर के अगले वर्ग के लिए वर्ग अध्यापन जारी रखने की अनुमति दी गई। वहीं, स्नातक (यूजी) में भी पार्ट वन के छात्रों को पार्ट टू और पार्ट टू के छात्रों को पार्ट थ्री की कक्षा हेतु वर्ग अध्यापन  कक्षाएं चलाने का निर्णय हुआ ताकि ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन लगातार होता रहे। एकेडमिक कॉउन्सिल की बैठक में सर्वसम्मति से स्नातक (यूजी) के सत्र 2020-2023 की नियमावली का अनुमोदन किया गया। नियमावली स्वीकृति के बाद अब जल्द ही यूजी में ऑनलाइन नामांकन की तिथि जारी की जाएगी। पीएचडी वायवा और सबमिशन के बारे में विद्वत परिषद ने निर्णय सभी सदस्यों से राय-मशविरा के बाद निर्णय लिया कि पीएचडी से सम्बंधित सभी कार्य निष्पादित किये जायेंगे। कुलपति डॉ एके सिंह ने सदस्यों के मंथन के बाद ऑनलाइन पीएचडी वायवा भी कराने की अनुमति दी। पीजी विभाग एक्सटर्नल और छात्रों की सुविधा को ध्यान में रखकर ऑनलाइन पीएचडी वायवा करा सकते हैं। साथ ही पैट 2019 का इंटरव्यू भी कराने पर निर्णय लिया गया। वहीं पीएचडी रिपोर्ट को ऑनलाइन मंगाने का निर्णय हुआ। बैठक में कुछेक सदस्यों ने सभी अंगीभूत महाविद्यालयों के शुल्क संरचना में अंतर होने की बात कही। जिस पर कुलपति ने सभी महाविद्यालयों में एक समान फी-स्ट्रक्चर बनाने का निर्देश दिया। ताकि सभी कॉलेजों के फी-स्ट्रक्चर में एकरूपता बनी रहे। कुलपति ने इसके लिए एक कमिटी के गठन की मंजूरी दी। पीजी हिंदी विभाग के हेड डॉ योगेन्द्र, टीएनबी कॉलेज के प्राचार्य, मारवाड़ी कॉलेज के प्राचार्य व जेपी कॉलेज नारायणपुर के प्राचार्य को कमिटी में शामिल किया गया है। मारवाड़ी कॉलेज में संचालित बैचलर ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (बीआईटी) में 40 सीटों की जगह पर 60 सीटों पर नामांकन का निर्णय लिया गया। फी और इंफ्रास्ट्रक्चर के सम्बंध में प्रतिवेदन देने हेतु एक कमिटी के गठन पर कुलपति ने सहमति दी। कमिटी में डीन साइंस डॉ अशोक ठाकुर, पीजी फिजिक्स के हेड डॉ जगधर मण्डल, यूडीसीए के प्रभारी प्राध्यापक डॉ कमल प्रसाद और पीजी स्टैटिक्स के हेड डॉ निसार अहमद को शामिल किया गया। बैठक में रजिस्ट्रार कर्नल अरुण कुमार सिंह, साइंस डीन व परीक्षा समन्वयक डॉ अशोक ठाकुर, सोशल साइंस की डीन डॉ रेखा सिन्हा, मानविकी डीन डॉ बहादुर मिश्र, कॉमर्स के डीन डॉ केसी झा, डॉ पवन पोद्दार, डॉ संजय चौधरी, डॉ योगेन्द्र, डॉ यूके मिश्रा, डॉ गुरुदेव पोद्दार, डॉ रमन सिन्हा, डॉ अमरकांत सिंह, डॉ विजय कुमार, डॉ मोहन मिश्र, डॉ उषा मिश्र, डॉ जगधर मंडल, डॉ राजीव सिन्हा, डॉ एसएन चौधरी, डॉ आरआर तिवारी, प्रॉक्टर सीसीडीसी डॉ केएम सिंह, कॉलेज इंस्पेक्टर डॉ रंजना, डॉ सरोज राय, परीक्षा नियंत्रक डॉ अरुण सिंह, पीआरओ डॉ दीपक कुमार दिनकर सहित सदस्यों ने भाग लिया।

Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें