expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pakur News: मानवाधिकार जन जागृति कल्याण परिषद ने चलाया जन जागरूकता अभियान


ग्राम समाचार,पाकुड़। शुक्रवार को झारखंड मानवाधिकार जन जागृति कल्याण परिषद राँची के तात्वाधान में जन जागरुकता अभियान सह बैठक साहेबगंज जिला के पतना प्रखण्ड अन्तर्गत ग्राम लखीपुर बेझा मैदान में जन जागरुकता सह बैठक हुई ।बैठक की अध्यक्षता सामाजिक कार्यकर्ता  लालू बास्की ने किया। झारखंड मानवाधिकार परिषद के प्रमुख सह राष्ट्रीय महासचिव श्री मुन्ना हेम्ब्रम ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि हमलोगों अपने हक और अधिकार के बारे में जानना होगा,प्रत्येक मनुष्य जिस दिन से जन्म लेते हैं उसी दिन से ही हमलोगों को समान अधिकार बनता है,गाँव समाज में एकजुटता के साथ रहने की जरुरत है।हमलोग आजाद हैं और आजादी से रहेंगे।हमलोगों के लिए हमारे पूर्वजों ने ने कड़ी मेहनत की है आज किसी से भी छिपी है।भीमराव रामजी अम्बेडकर डाॅ बाबा साहब नाम से लोकप्रिय,भारतीय बहुज्ञ,विधिबेता अर्थशास्त्री,राजनीतिज्ञ और समाज सुधारक थे।उन्होंने दलित बौद्ध आंदोलन को प्रेरित किया और अछूतों से सामाजिक भेदभाव के विरुद्ध अभियान चलाया था।श्रमिकों,किसानों और महिलाओं के अधिकारों का समर्थन भी किया था। पाकुड़ जिला अध्यक्ष गब्रियल मुर्मू ने सभी ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि आज के दिनों में शिक्षा हासिल करने की अति आवश्यकता है शिक्षा के बिना जीवन अधूरा ही रह जाती है।प्रत्येक घरों में शिक्षा की ज्योति जलाना है तभी ही हमलोगों अपने हक  और अधिकार जान पायेंगे। प्रमुख सह राष्ट्रीय महासचिव श्री मुन्ना हेम्ब्रम के साथ राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष विजय हेम्ब्रम, राष्ट्रीय सरंक्षक श्री मन्टू मुर्मू,प्रमंडीय कल्याण सचिव संतोष मराण्डी,पाकुड़ जिला अध्यक्ष गब्रियल मुर्मू, साहेबगंज जिला सचिव श्री पतरास हाँसदा,बालू हाँसदा,नथानियल मुर्मू,बुद्धिनाथ मुर्मू,सुशीला बेसरा,मुखी मुर्मू एवं सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे।

ग्राम समाचार, बिक्की कुमार भगत की रिपोर्ट।


Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें