expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : प्रथम महिला शिक्षिका माता सावित्री बाई फूले की 190वीं जयंती पर समारोह आयोजित

कोसली विधायक लक्ष्मण सिंह यादव ने कहा कि माता सावित्री बाई फूले का जीवन संघर्षों से भरा हुआ था। आज प्रत्येक व्यक्ति को उनके जीवन से प्रेरणा लेकर उनके आदर्शों को अपने जीवन में उतारना चाहिए। कोसली विधायक स्थानीय सैनी पब्लिक स्कूल में राष्ट्र की प्रथम महिला शिक्षिका माता सावित्री बाई फूले की 190वीं जयंती पर आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने माता सावित्री फूले व महात्मा ज्योतिबा फूले के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सैनी सभा रेवाड़ी (रजि.) के प्रधान शशिभूषण सैनी ने की। इस मौके पर सैनी समाज के चारों नवनिर्वाचित पार्षदों सविता सैनी, गोपाल सैनी एडवोकेट, सुरेश सैनी व राधा दीपक सैनी को विशेष रूप से सम्मानित किया गया। इस दौरान सैनी सभा प्रबंधकारिणी की ओर से माता सावित्री बाई फूले की जयंती 3 जनवरी को राष्ट्रीय शिक्षिका दिवस घोषित करने व फूले दंपत्ति को भारत रत्न देने की पुरजोर मांग की गई।



समारोह को संबोधित करते हुए विधायक यादव ने कहा कि 18वीं सदी में अनेकों सामाजिक कुरीतियां थी। जिन्हें समाप्त करने के लिए महात्मा ज्योतिबा फूले तथा माता सावित्री बाई फूले ने विशेष अभियान चलाया। उन्होंने कहा कि आज के परिपेक्ष में देखा जाए तो उस समय में लोगों को जगाने के लिए फूले दंपत्ति ने कितना कष्ट भोगा होगा, इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है। विधायक ने कहा कि महात्मा ज्योतिबा फूले ने जहां लड़कियों के लिए पहला स्कूल खोला, वही उनकी पत्नी ज्योतिबा फूले ने छात्राओं को पढ़ाने के लिए अध्यापन का कार्य शुरु किया। उस समय सामाजिक विसंगतियों का बोलबाला था तथा रुढीवादी विचारधारा थी। जिन सबसे लड़ते हुए उन दोनों ने लोगों को जागृत करने का अभियान लगातार जारी रखा। कोसली विधायक ने कहा कि माता सावित्री बाई फूले ने अपने जीवन को एक मिशन के रूप मे लिया। जिनका मुख्य उद्देश्य विधवा विवाह करवाना, छुआछूत मिटाना, महिलाओं को उनके अधिकार दिलाना तथा दलित महिलाओं को शिक्षित बनाना रहा। मराठी आदि कवियत्री के रूप में उन्होंने विशेष पहचान बनाई। लड़कियों को शिक्षा देने के समय उन्हें अनेकों यातनाओं का सामना किया, लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी। आज के समय में महिलाओं को उन्हें अपना आदर्श मानकर उनके दिखाए आदर्शों पर चलने का प्रण लेना चाहिए। मंच संचालन सभा के सचिव धर्मेंद्र सैनी एडवोकेट ने किया। इस मौके पर उपप्रधान हरीसिंह सैनी, कोषाध्यक्ष सर्वेश सैनी, प्रबंधकारिणी सदस्य सुंदरलाल सैनी, कालोजियम सदस्य हरिराम सैनी, लव सैनी सहित अनेक गणमान्य लोग इस अवसर पर उपस्थित रहे। 
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें