expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Dumka News: मयूराक्षी ग्रामीण इंटर कांलेज के प्राचार्य की चयन का मामला

अखिल विश्व विद्यार्थी परिषद् प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सुमन घोष
ग्राम समाचार, दुमका। मयूराक्षी ग्रामीण इंटर कालेज रानीश्वर के पठन- पाठन एबं छात्र हित मे कालेज के बरीय अध्यापक को प्राचार्य बनाने के लिये अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सुमन घोष ने स्थानीय विधायक सह शासी इकाई के अध्यक्ष नलिन सोरेन से मांग किया हैं ।श्री घोष ने बताया हैं कि प्राचार्य ब्रज भूषण साहा का 24 नंबम्बर को कार्यकाल समाप्त हो जायेगा ।वह बर्ष 2012 से यहां प्राचार्य के पद पर कार्य किया हैं ।उनका कार्यकाल बिबाद से घिरा रहा हैं ।बर्ष 2015 में श्री साहा ने तत्कालीन सचिव सह डिग्री कालेज के प्राचार्य डॉ. अब्दुल रईस खान के साथ मिलकर कालेज परिसर के हरा भरा इमारती पैड़ काट कर बेच दिया था ।22 अगस्त 2015 को इंटर कालेज के लिपिक महाप्रसाद घोष एबं डिग्री कालेज के प्रभात घोष ने डीएफओ दुमका को लिखित शिकायत किया था।वन अधिनियम के तहत श्री साहा एबं डॉ. खान के नाम पर केस हुई थी।12 दिसंबर 2015 को लोक अदालत ने उस मामले में उन दोनों को आर्थिक जुर्माना किया गया हैं ।यहां कई शिक्षा माफियाओं ने दंडित प्राचार्य का सेबा बिस्तर कराने के लिये शासी इकाई के सदस्यों को दबाब देना शुरू कर दिया हैं ।सुमन ने बताया हैं कि श्री साहा के कार्यकाल काफी बिबाद में घिरा रहा हैं ।यहां इंटर कालेज में नामांकित नब्बे फीसद छात्र पश्चिम बंगाल राज्य के हैं ।घर बैठे बंगाल निबासी छात्र यहा श्री साहा के मिली भगत से फर्जी उपस्थिति दर्ज करा कर परीक्षा में शामिल होता हैं । अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कालेज इकाई के सदस्य सोमनाथ पात्र, सौभिक गांगुली रोबिन घोषाल पूर्ब विश्व बिद्यालय संयोजक बिमान सिंह ने उस बिबादस्पद प्राचार्य के सेबा बिस्तार का तीब्र बिरोध किया हैं ।
गौतम चटर्जी, ग्राम समाचार, रानीश्वर(दुमका)
Share on Google Plus

Editor - केसरीनाथ यादव, दुमका

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें