expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Banka News: पोषण वाटिका बनाने के लिए सेविकाओं को दिया गया प्रशिक्षण

 ग्राम समाचार, बांका।सितंबर महीने को पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। इसे लेकर जिले भर में तमाम तरह के कार्यक्रम चल रहे हैं। इसी सिलसिले में गुरुवार को कृषि विज्ञान केंद्र में सेविकाओं को घर में पोषण वाटिका बनाने के लिए प्रशिक्षित किया गया। प्रशिक्षण के बाद सेविका घर-घर जाकर लोगों को पोषण वाटिका बनाने के लिए आम लोगों को जागरूक करेंगी। 

 


प्रशिक्षण के दौरान आईसीडीएस डीपीओ रिफत अंसारी ने बताया की पोषण से ही कुपोषण को खत्म किया जा सकता है ।इसके लिए घर में पोषण वाटिका बनाना बहुत महत्वपूर्ण है। घर में पोषण वाटिका रहने से लोगों को बिना बाहरी रसायन वाले साग सब्जी खाने को मिलेंगे, जिससे लोग स्वस्थ रहेंगे और कुपोषण भी खत्म होगा। इसी क्रम में जिलेभर की सेविकाओं को कृषि विज्ञान केंद्र में प्रशिक्षित किया गया। घर में मौजूद खाली प्लास्टिक में मिट्टी डालकर उगाए सब्जी–प्रशिक्षण के दौरान कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों ने जिलेभर की सेविकाओं को बताया कि घर-घर जाकर लोगों को घर में खाली पड़े प्लास्टिक में मिट्टी डालकर लौकी, करेली, भिंडी आदि सब्जी लगाने के लिए प्रेरित करें। इन सब्जियों में किसी भी तरह का रासायनिक खाद का प्रयोग नहीं करने के लिए कहे। इससे तैयार हरी सब्जियों के सेवन से किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होगा और लोगों को पूरी तरह से विटामिन से भरपूर सब्जियां खाने को मिलेगी।

 एनीमिया की समस्या होगी दूर– प्रशिक्षण के दौरान कृषि वैज्ञानिकों ने सेविकाओं को बताया कि खाद रहित सब्जियों के सेवन से शरीर को भरपूर विटामिन मिलता है। गर्भवती और धात्री महिलाएं अगर ऐसी सब्जियों का सेवन करती है तो उनमें एनीमिया की समस्याएं भी समाप्त होती है, साथ ही बच्चे भी स्वस्थ रहते हैं। महिलाएं स्वस्थ रहेगी तो वह अपनी बच्चे को भी नियमित तरीके से स्तनपान करा पाएगी। इससे बच्चे भी कुपोषित नहीं होंगे।



 घर घर जाकर सेविकाएँ पोषण वाटिका बनाने के लिए प्रेरित करेगी। प्रशिक्षण में मौजूद सेविका मुन्नी कुमारी और मंजुला कुमारी ने बताया कि वैज्ञानिकों ने हम लोगों को घर में पोषण वाटिका कैसे बनाया जाता है, इसके बारे में बताया। घर में पोषण वाटिका बनने से क्या फायदा है। इस बात को हम लोगों ने समझा। उनके द्वारा यह भी बताया गया कि अब हम लोग हर घर घर जाकर लोगों को इसके लिए प्रेरित करेंगे। कार्यक्रम में मौजूद आईसीडीएस के जिला समन्वयक शम्स तबरेज ने बताया कि सभी सेविकाएं कल से घर घर जाकर लोगों को पोषण वाटिका बनाने के तरीके बताएंगे। इससे होने वाले फायदे की जानकारी लोगों को दी जाएगी।

ब्यूरो रिपोर्ट, ग्राम समाचार बांका।

Share on Google Plus

Editor - सुनील कुमार

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें