expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : कर्मचारियों को मानसिक रूप से किया जा रहा है परेशान, भत्ते व एरियर लंबे समय से पेंडिंग, रेल विभाग नहीं ले रहा संज्ञान : का. देवेंद्र


रेवाड़ी। नार्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाइज यूनियन के बैनर तले बिकानेर मंडल के रेल कर्मियों ने कर्मचारी विरोधी रवैये को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि यदि उनकी मांगों को अनसुना किया गया तो आंदोलन और तेज किया जाएगा।
इस मौके पर जिला रेवाड़ी सहित बिकानेर मंडल के विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर आयोजित प्रदर्शनों को संबोधित करते हुए एनडब्ल्युआरईयू बिकानेर मंडल के सहायक मंत्री का. देवेंद्र यादव कहा कि करोना महामारी के बीच हमारे कर्मचारी दिन-रात लगातार मेहनत करके मालगाडिय़ों व अन्य गाडिय़ों का संचालन कर  रहे है। इसके बावजूद भिवानी के सहायक मंडल अभियंता द्वारा चार्जशीट एक ठेकेदार के कहने पर दी जा रही व उनको मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा है। इसको लेकर कर्मचारियों में भय का माहौल व्यापत है। कर्मचारियों के रेलवे आवास जिनमे पानी का कनेक्शन तक नहीं है, ठेकेदारों के द्वारा पानी डलवाया जाता है जो कि समय पर नही देता ।
उन्होंने कहा कि काफी कर्मचारियों के भत्ते व एरियर काफी समय से पेंडिंग है। इस ओर सहायक मंडल अभियंता का कोई ध्यान नहीं है, जबकि रेलवे आवास की रिपेयर के लिए जो भी वर्क आता है जिसमे कुछ ही रेलवे आवास की मरमत हो पाती बाकी अधिकतर रेलवे आवास की हालत बहुत खराब है। जिसको लेकर कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। सहायक मंडल अभियंता की मनमानी व तानाशाही  बढती जा रही है, जो यूनियन कभी बर्दाश्त नहीं करेगी। 
उन्होंने कहा कि रेल आवासों की हालात दिन प्रतिदिन खस्ता हो रही है। जिसका एक उदाहरण कल रात्रि में महाजन में रेल आवास में रह रहे कर्मचारी प्रदीप कुमार सिग्नल हेल्पर पर सोते समय छत का कुछ भाग गिर गया। जिससे वह घायल हो गया। उन्होंने कहा कि यदि रेल प्रबंधन जल्द नहीं चेता तो आंदोलन तेज किया जाएगा।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें