expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : मत्स्य विभाग ने मांगे प्रशिक्षण व अनुदान योजनाओं के लिए आवेदन


रेवाड़ी, 30 जुलाई। मत्स्य पालन विभाग ने अनुसूचित जाति वर्ग के बेरोजगारों के लिए  स्कीम फॉर द वेलफेयर ऑफ शेडयूल कॉस्ट फैमिलीज इन फिशरीज योजना के अंतर्गत 10 दिनों का मत्स्य प्रशिक्षण देने के लिए आवेदन आमन्त्रित किए हैं। विभाग द्वारा मत्स्य पालन को बढ़ावा देने व युवाओं को इस क्षेत्र में स्वरोजगार के लिए अनुदान योजना के लिए भी आवेदन आमंत्रित किए हैं।
जिला मत्स्य अधिकारी जय गोपाल वर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि मछली पालन हेतु पट्टïे पर लिए तालाबों पर वित्तीय सहायता के लिए प्रथम वर्ष पट्टïा राशि पचास हजार रूपए प्रति हेक्टेयर अथवा वास्तविक पट्टïा राशि का 50 प्रतिशत दोनों मे से जो कम हो,  जिसकी अधिकतम सीमा दो लाख रूपए अनुदान राशि दी जाएगी।  वहीं मछली मंडियों में सरकार द्वारा स्थापित दुकान एवं प्राईवेट दुकान किराए पर लेने हेतु मछली की थोक ब्रिकी के लिए दुकान किराए पर लेने के लिए किराए का 50 प्रतिशत की दर से या पांच हजार रूपए प्रति माह की दर से दोनों में जो भी कम हो। मछली की खुदरा बिक्री के लिए दुकान के किराए का 50 प्रतिशत की दर से अथवा तीन हजार रूप्ए प्रति माह की दर से दोनों में से जो भी कम हो प्रति लाभार्थी देने का प्रावधान किया गया है।  जाल खरीद पर अनुदान के लिए मत्स्य पालकों को 15 हजार रूपए की जाल खरीद पर 50 प्रतिशत अनुदान प्रदान देने का प्रावधान किया गया है। अधिसूचित पानियों में मछली पकडऩे के ठेके के लिए स्वीकृत कुल बोली का 25 प्रतिशत अथवा चार लाख रूपए अधिकतम सीमा पर अनुदान विभाग द्वारा दिया जा रहा है।  मत्स्य पालकों को खाद खुराक पर वित्तीय सहायता के लिए अनुदान की राशि 60 प्रतिशत की दर से 90 हजार रूपए प्रति हैक्टेयर की दर से प्रदान किया जाएगा जिसकी अधिकतम सीमा एक लाख 80 हजार रूपए होगी। तालाब सुधार के लिए 30 प्रतिशत से अधिक अनुसूचित जाति से संबंधित आबादी वाली ग्राम पंचायतों की पंचायती भूमि का पंचायत से प्रस्ताव लेकर तालाब सुधार करने का प्रावधान भी योजना के तहत किया गया है।  लघु एंव मध्य साइज की सजावटी मछलियों की बैकयार्ड हैचरी की इकाई पर अनुदान के लिए अनुसूचित जाति से सम्बंधित व्यक्तियों द्वारा निजी जमीन पर लघु साइज की सजावटी मछलियों को बैकयार्ड हैचरी की इकाई स्थापित करने पर विभाग द्वारा 50 प्रतिशत की दर से 12 हजार 500 रूपए प्रति व्यक्ति तथा मध्य साइज की सजावटी मछलियों की बैकयार्ड हेचरी की इकाई स्थापित करने पर विभाग द्वारा 50 प्रतिशत की दर से एक लाख रूपए प्रति व्यक्ति को अनुदान दिया जाता है। जिला मत्स्य अधिकारी ने बताया कि प्रार्थी अपना प्रार्थना पत्र जिला मत्स्य अधिकारी मकान नंबर 15, कृष्णा नगर रेवाड़ी के कार्यालय, मत्स्य अधिकारी रेवाड़ी, मत्स्य अधिकारी जाटूसाना एवं सहायक मत्स्य अधिकारी नाहड़ के कार्यालय में सरल पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण अवधि  के दौरान प्रशिक्षु को दस दिन तक के लिए  सौ रूपए प्रतिदिन के हिसाब से प्रशिक्षण भत्ता दिया जाएगा।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें