Rewari News : शहर में दिनदहाड़े एक पान की दुकान में चोरी की कोशिश नाकाम हुई

ग्राम समाचार न्यूज : रेवाड़ी में एक पान की दुकान में चोर द्वारा चोरी करते हुए लोगों द्वारा रंगे हाथ पकड़ कर पुलिस के हवाले करने का मामला सामने आया है. घटना शहर के सर्कुलर रोड स्थित व्यस्ततम बाजार बस स्टैंड की है जहां मंगलवार दोपहर को उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक चोर दिनदहाड़े पान की दुकान में घुस गया और गल्ले में रखी नकदी पर हाथ साफ करने लगा. इसी दौरान पैसे छुट्टे करवाने आए एक दुकानदार ने जब यह नजारा देखा तो तुरंत दुकान मालिक और चौक पर तैनात ट्रैफ़िक पुलिस कर्मी को इसकी सूचना दी. स्थानीय दुकानदारों ने मौके पर ही चोर को दबोच लिया और जब उससे पूछा गया कि तुम दुकान के अंदर क्या कर रहे हो तो चोर बोला मैं सिगरेट लेने के लिए आया था. गुस्साए लोगों ने चोर को कई थप्पड़ रसीद कर उसे पुलिस के हवाले कर दिया पुलिस चोर को पकड़ कर अपने साथ थाने ले गई.



दरअसल हुआ यूं की रेवाड़ी के बस स्टैंड बाजार में प्रकाश पान सेंटर के नाम से एक दुकान है जहां पर आज दोपहर करीब 2:00 बजे एक चोर मौका पाकर दुकान में घुस गया और गल्ले में रखी नकदी चोरी करने लगा. इसी दौरान पड़ोसी दुकानदार पान की दुकान पर पैसे खुले लेने के लिए आया तो उसकी नजर चोर पर पड़ी. घटना के समय दुकान का मालिक दुकान के बाहर बैठा हुआ था. चोर मौके का फायदा उठा कर दुकान के अंदर घुस गया हालांकि चोर अपने मंसूबे में कामयाब होता इससे पहले ही लोगों ने उसकी धुनाई कर उसे पुलिस के हवाले कर दिया. इस घटना में दुकानदार की लापरवाही भी नजर आई तो वही पड़ोसी दुकानदारों की सजगता और पुलिस की तत्परता व मुस्तैदी भी नजर आई. जिस कारण चोर अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो सका. फिलहाल पुलिस ने चोर को गिरफ्तार कर उसे हिरासत में ले लिया है और तलाशी के दौरान उसके पास से कुछ पैसे भी बरामद किए गए हैं. फिलहाल पुलिस चोर से पूछताछ कर रही है. 
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education