Rewari News : खड़कवास गांव स्थित शिव मंदिर में मूर्ति स्थापना कर कलश यात्रा निकाली, हवन यज्ञ एवं प्रसाद वितरण का आयोजन

खड़गवास गांव में शिव भक्तों द्वारा शिव मंदिर में भक्तिमय होकर धूम धाम से हवन पूजन, कलश यात्रा, मूर्ति स्थापना कर शिव भंडारे में भक्तो को प्रसाद वितरण किया गया ।                  



खड़गवास गांव निवासी आम आदमी पार्टी रेवाड़ी विधानसभा के अध्यक्ष सूबेदार विक्रम सिंह ने बताया कि भक्ति भाव से सरोबार पवित्र सावन माह के पावन अवसर पर आज खड़गवास गांव के शिव भक्तों के द्वारा गांव में लगभग 400 वर्ष से अवस्थित पौराणिक शिव मंदिर का जन सहयोग से जीर्णोद्धार करवाकर मंदिर के गुम्बद को 61 फिट की ऊंचाई पर स्थापित करवाकर शिव मंदिर में हवन पूजन करवाकर, कलश यात्रा निकलवाकर, भगवान राम परिवार, भगवान राधाकृष्ण, मां सरस्वती जी, नंदी जी की नई दिव्य मूर्तियों की भक्ति भाव से स्थापना की जा कर भोले बाबा शिव के भजन कीर्तन से पूर्ण वातावरण को शिवमय बना दिया गया। 



सुबेदार विक्रम सिंह के अनुसार भगवान शिव जी के पौराणिक मंदिर के पुनरुद्धार में विशेष तया भूपसिंह ठेकेदार, मास्टर जय सिंह, राज सिंह प्रधान, दादा राजपाल, धर्मपाल डी सी, शमशेर ठेकेदार, प्यारे लाल जे ई,सुबेदार सतीश कुमार, सुबेदार रोशन लाल, ओमदत्त थानेदार, अशोक कुमार, सतबीर, रामनिवास, प्रवेश कुमार, सतेंद्र, दयानंद, गांव की महिला मंडल की महिलाओं, युवा संगठन आदि के सभी ग्राम वासियों ने अपनी अपनी सामर्थ्य से तन, मन, धन से अपना सहयोग किया है। साथ ही शिव मंदिर धाम पर विशाल भंडारे का आयोजन कर आगंतुक शिव भक्तों को प्रसाद का भोग भी वितरण किया गया। 



सुबेदार विक्रम सिंह ने बताया कि समस्त उपस्थित शिव भक्तों ने भगवान शिव से सम्पूर्ण क्षेत्र के वासियों के लिए सुख, शांति, खुशहाली, समृद्धि, वैभव प्राप्ति एवम अमन चैन की कामना की।           

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education