expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Online Education


Rewari News : प्रदेश सरकार ने आईटी के माध्यम से प्रदेश की जनता को दिया पारदर्शी एवं भ्रष्टïचार मुक्त सुशासन, कराया फील गुड का अहसास

रेवाड़ी 26 जून। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की पादर्शी व दूरगामी सोच के चलते हरियाणा सरकार ने सिस्टम को पारदर्शी एवं भ्रष्टïाचार मुक्त बनाते हुए आईटी यानि इंर्फोमेशन टेक्नॉलॉजी के माध्यम से प्रदेश में फैले भ्रष्टïाचार पर कड़ा प्रहार किया है और प्रदेशवासियों को पारदर्शी एवं भ्रष्टïाचार मुक्त सुशासन देकर फील गुड का अहसास कराया है। सीएम मनोहर लाल स्वयं आईटी के जानकार हैं और वे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर काफी सक्रिय हैं।

अब प्रदेश में सभी कार्य लगभग ऑनलाइन माध्यम से हो रहे हैं। चाहे वह लोगों तक विभिन्न जनकल्याणकारी सरकार योजनाओं का लाभ पहुंचाने की बात हो, जमीन की रजिस्ट्री हो या ऑनलाइन ट्रांसफर की बात हो या फिर सरकारी नौकरी देने की बात हो मनोहर सरकार द्वारा हर क्षेत्र में पूरी पारदर्शिता बरती जा रही है और पर्ची व खर्ची पर अंकुश लगाया है।
प्रदेश सरकार द्वारा आधुनिक तकनीक की मदद से लोगों को सीधा लाभ देने व जनता की शासन-प्रशासन तक सीधी एवं सरल पहुंच बनाने के लिए अनेक पोर्टल, वेबसाइट व सॉफ्टवेयर विकसित किए गए और आईटी के माध्यम से जनता तक जनकल्याण की योजनाओं व सेवाओं का लाभ देने की शुरूआत की गई। सरकारी ऑफिस में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए ई-प्रदेशभर में ऑफिस कार्य प्रणाली को लागू किया गया। इस सिस्टम के माध्यम से फाइल की मानीटरिग व मूवमेंट को ट्रैक करना तथा विभागों में अधिकारियों व कर्मचारियों की कार्यप्रणाली का भी मूल्यांकन करना आसान हो गया है। प्रदेश सरकार द्वारा शासन-प्रशासन में टैलेंट को बढ़ावा देने के लिए पंचायत व शहरी स्थानीय निकाय विभागों में जन प्रतिनिधियों के लिए भी शिक्षा की अनिवार्यता निर्धारित की गई, जिसका फायदा सरकार की योजनाओं को जमीनी स्तर पर जनता तक पहुंचाने में मिल रहा है।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें