expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Online Education


Rewari News : कोरोना को हरा देने वाले दो उदाहरण, सकारात्मक ऊर्जा से ठीक होकर घर लौटे डीटीओ गजेन्द्र कुमार

रेवाड़ी, 24 मई। रेवाडी जिला के डीटीओ गजेन्द्र कुमार ने बताया कि जब मुझे कोरोना हुआ तो मन में नकारात्मक विचार आए, जिसका नतीजा यह हुआ कि मेरी तबीयत बिगड़ती चली गई और मैं 17 अप्रैल से 28 अप्रैल तक अस्पताल में रहा और डिस्चार्ज हो गया, तथा फिर बुखार आने पर 5 मई तक वह घर पर ही आईसोलेट रहें। उन्होंने बताया कि आईसोलेट रहते हुए उन्होंने सकारात्मक सोचा तो शरीर में बदलाव आने लगा। उन्होंने बताया कि किसी भी तरह की बिमारी हो तो उससे लडऩे के लिए सही दवा के साथ अच्छे विचार भी जरूरी है।



गजेन्द्र कुमार ने बताया कि 17 अप्रैल को उन्हें तेज दर्द, सर्दी जुखाम के साथ बुखार आया और शरीर टूटने लगा था, डाक्टर को दिखाकर उन्होंने टैस्ट करवाया तो उनकी कोविड की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। रिपोर्ट आने के तक उन्हें सांस लेने में भी परेशानी होने लगी, इसके बाद वे अस्पताल में भर्ती हो गए। बिमार होने के शुरूआती दिनों में उनके मन में नकारात्मक विचार आए और उससे उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई, लेकिन साथी अधिकारियों व परिवार वालों ने मुझे पढऩे के लिए सकारात्मक पुस्तकें तथा कई वीडियों भेजें। उन्हें देखकर लगा यूआरद स्ट्रांगेस्ट पर्सन, इन सब बातों से मेरे अंदर सकारात्मक ऊर्जा आई, जिससे मुझे अच्छा महसूस होने लगा। मेरे परिवार व चिकित्सक टीम ने मेरा भरपूर ध्यान रखा और मैं आज सोमवार स्वस्थ होकर अपने डयूटी पर उपस्थित हो गया हूॅँ।
धैर्य, दृढ़ इच्छा शक्ति और सकारात्मक सोच के साथ हराया कोरोना: प्रियंका यादव


वहीं कोरोना से ठीक होकर लौटी रेवाडी की प्रियंका यादव ने बताया कि शुरूआत में मुझे हल्की खांसी और जुकाम बुखार की शिकायत महसूस हुई। मुझे लगा शायद वायरल हो सकता है मगर फिर एक जागरूक नागरिक होने के नाते इसे हल्के में न लेते हुए मैने खुद को पूर्णत: होम आइसोलेट कर लिया और काढ़ा और देसी ईलाज करना शुरू कर दिया। दो दिन बाद मैने सिविल हास्पिटल में जांच भी कराई जिसकी मुझे पाजिटिव रिपोर्ट मिली। मैने बिना घबराएं धैर्य और अपनी दृढ़ इच्छा शक्ति, सकारात्मक सोच के साथ मैने कोरोना को हराने का प्रण लिया। मैने दवाई से ज्यादा देसी नुस्खों व दृढ़ इच्छा शक्ति पर विश्वास किया और मैं पूर्णत: स्वस्थ हुई। प्रियंका यादव ने बताया कि दृढ़ इच्छा शक्ति और सकारात्मक सोच से कुछ भी असंभव नही तो कोरोना क्या चीज है, कोरोना से जीतना असंभव नहीं है। थोड़ी-सी सावधानी से हम इसे मात दे सकते है। उन्होंने बताया कि मास्क पहने, बार-बार हाथ को साबुन से धोएं, भीड़-भाड़ वाली जगह पर जाने से बचे, दो गज की दूरी बनाएं रखे।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें