expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : एसीएस कुंडू ने रेवाड़ी में चले रहे विकास कार्यो की समीक्षा, जिला में हुए विकास कार्यो पर संतोष व्यक्त किया

रेवाड़ी, 15 फरवरी। श्रम, सैनिक एवं अद्र्घसैनिक कल्याण, प्रिंटिंग एवं स्टेशनरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री वीएस कुंडू ने आज जिला सचिवालय सभागार में जिला में चल रहे विकास कार्यो एवं योजनाओं की समीक्षा की। बैठक में डीसी यशेन्द्र सिंह, एसपी अभिषेक जोरवाल, एडीसी राहुल हुडडा, एसडीएम रेवाडी रविन्द्र यादव, एसडीएम बावल मनोज कुमार, सीटीएम रोहित कुमार, डीआरओ विजय यादव सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।



डीसी यशेन्द्र सिंह ने जिला में चल रहे विकास कार्यो व योजनाओं की विस्तृत जानकारी बैठक में दी। सभी विभागों की प्रोजक्ट के माध्यम से चल रही विकास कार्यो की योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री वरिंद्र सिंह कुंडू ने सीएम विंडो के तहत शिकायतों के निपटान की प्रगति, विभागों की प्रमुख ई-गवर्नेंस परियोजनाओं, केंद्रीय और राज्य सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने इसके अलावा कोविड-19 की स्थिति के साथ-साथ कानून एवं व्यवस्था की भी समीक्षा की।
डीसी ने एसीएस को बताया कि रेवाड़ी में बन रही जेल की बिल्डिंग का कार्य 80 प्रतिशत पूरा हो चुका है तथा फ्लोरिंग व पेंटिंग का कार्य अतिंम चरण में है, इसको शुरू किया जा सकता है। इसके शुरू होने पर कैदियों को गुरूग्राम नारनौल ले जाने व छोडने के लिए जो पुलिस बल का समय खराब होता है इसके शुरू होने से पुलिस का समय बचेगा। डीसी ने एसीएस को बताया कि जिला में मिनी सचिवालय में जगह न होने के कारण कई कार्यालय किराए के भवन में चल रहे है, तथा वे डेढ साल से प्रयास कर रहे है कि सचिवालय के नए भवन का निर्माण करवाया जाएं ताकि सभी कार्यालय एक ही जगह हो सकें, तथा लोगों को कोई परेशानी न हो। डीसी ने कहा सचिवालय के साथ लगती हुई भूमि या मिनी सचिवालय के साथ अतिरिक्त बिल्डिंग बन जाए तो सभी कार्यालय एक जगह हो सकते है।
एसीएस कुंडू ने लोक निर्माण विभाग के अधीक्षक अभियंता को निर्देश दिए कि वे तुरंत इस पर कार्य करना सुनिश्चित करें, जो भी प्लान बनाई जाए उस पर तेजी से कार्य किया जाएं। उन्होंने कहा कि सरकारी भवनों की मरम्मत व शौचालयों के रख-रखाव पर कार्य करें तथा जिन कार्यालयों में लोगों को आना-जाना अधिक है, उन कार्यालयों का कार्य प्राथमिकता के आधार पर करें। अधीक्षक अभियंता वीएस मलिक ने बताया कि इसके लिए डिजाईन लाइन बदलेगी तथा नई पाईप लाइन लगेगी, जिसे 10 दिन में शुरू कर दिया जाएगा।
बस स्टैण्ड रेवाडी के निर्माण बारे समीक्षा करते हुए उन्होंने निर्देश दिए कि अधिग्रहण भूमि पर अब कोई स्टे नहीं है, जो कुछ स्टै्रक्चर बने हुए है उनकी लोक निर्माण विभाग द्वारा वैल्यूवेशन कराकर इसका मैप बनवाकर इसका कार्य शुरू करवाएं। अधिग्रहण भूमि पर से जो बिजली की लाइन जा रही है, उसको हटवाने के लिए बिजली निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस बिजली की लाइन के कार्य को शिफ्ट करने में देरी न करें। कोसली सब-डिपो कार्यशाला के बारे में बताया गया कि इसका 80 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है। डीसी ने एसीएस को बताया कि रेवाडी जिला में तहसील व सब-तहसील की बिल्डिंगों की हालत ठीक नहीं है जो नई बननी है, इस पर एसीएस ने कहा कि यहां पर लोगों का आना-जाना ज्यादा रहता है, इस कार्य को प्राथमिकता के आधार पर करवाएं।
एसीएस कुंडू ने रेवाड़ी बाईपास, गुरूग्राम-पटौदी-रेवाडी, रेवाड़ी-अटेली मंडी फॉर लेन सहित अन्य परियोजनाओं की भी समीक्षा की।
एसीएस वीएस कुंडू ने सरल पोर्टल पर सेवाएं देने में प्रथम स्थान पर, ऑनलाइन जमाबंदी शत-प्रतिशत, कोरोना मुक्त होने, परिवार पहचान पत्र के कार्य, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण में देश के 20 जिलों में रेवाडी शामिल होने, ई-गर्वनेंस व सीएम विंडो में अच्छा कार्य करने पर अधिकारियों की सराहना की, और उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में भी इससे बेहतर कार्य होगा, इसके लिए भी प्रयास करें ताकि रेवाड़ी जिला अग्रणी रह सकें। वीएस कुंडू ने रेवाडी जिला के लोगों की प्रशंसा करते हुए कहा कि यहां के लोग शालीन है तथा अधिकारियों को सहयोग करते है। उन्होंने कहा कि अगले माह में दोबारा से रेवाड़ी जिला में चल रहे विकास कार्यो की समीक्षा की जाएगी।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें