expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bhagalpur News:किसान मेला के दूसरे दिन विभिन्न कार्यशालाओं एवं गोष्ठी का आयोजन, 7000 से ज्यादा किसानों के द्वारा मेला में मौजूद विभिन्न स्टॉलों का किया गया भ्रमण



ग्राम समाचार, भागलपुर। बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर में आयोजित किसान मेला के दूसरे दिन विभिन्न कार्यशालाओं एवं गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिनमें मुख्य रूप से युवाओं के स्वरोजगार विषयक मौसम अनुकूल कृषि तकनीकें, समेकित कृषि प्रणाली, मशरूम उत्पादन, जैविक खेती, स्ट्राबेरी की खेती, जैविक विधि से सब्जी उत्पादन पर परिचर्चा आयोजित की गई। किसानों के लिए किसान ज्ञान प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। दो दिनों तक चली किसान ज्ञान प्रतियोगिता में विजेता किसानों को कल समापन सत्र के दौरान पुरस्कृत किया जायेगा। किसान मेला के दूसरे दिन 7000 से ज्यादा किसानों के द्वारा मेला में मौजूद विभिन्न स्टॉलों का भ्रमण किया। विश्वविद्यालय द्वारा लगाये गये प्रदर्शनी में संरक्षित खेती, फसल अवशेष प्रबंधन, मौसम अनुकूल खेती की तकनीकें, जल प्रबंधन, उद्यमिता, मूल्यवर्द्धित उत्पाद, मखाना, फसलों, फलों एवं सब्जी के प्रभेदों को प्रमुख रूप से दर्शाया गया। आज के कार्यक्रम का उद्घाटन उद्घाटन विधायक गोपालपुर नरेन्द्र कुमार नीरज के द्वारा के द्वारा किया गया और विशिष्ट अतिथि के रूप में डॉ. एन. के. शाही, मुख्य वैज्ञानिक गो.ब.पं.कृ.प्रौ.वि., पंतनगर, डॉ. एम. एस. कुण्डु निदेशक प्रसार शिक्षा, डा.रा.प्र.के.कृ.वि., पूसा, डा. अंजनी कुमार, निदेशक, अटारी, पटना, डा. के. के. सिंह, अध्यक्ष, भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान का क्षेत्रीय केन्द्र, पूसा, समस्तीपुर, सुनील कुमार, मुख्य महाप्रबंधक, नाबार्ड, पटना, अमिताभ रंजन, मंडल प्रमुख, मंडल केनरा बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, भागलपुर, सुधांशु भूषण संजय कुमार मिश्रा प्रमुख, सहायक महाप्रबंधक, केनरा बैंक आदि उपस्थित थे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति डॉ आर के सोहाने ने की एवं धन्यवाद ज्ञापन डा. आर. एन. सिंह, सह निदेशक प्रसार शिक्षा ने दिया।


Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें