expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pakur News: मांदर की थाप पर जमकर झूमे सांसद विजय हांसदा


ग्राम समाचार, पाकुड़। प्रकृति के पर्व सोहराय की धूम, बड़ी संख्या में छात्र/छात्रा शामिल हुए लोग झारखंड के पाकुड़ में प्रकृति का पर्व सोहराय की धूम शुरू हो गई है. सांसद विजय हांसदा ने इसकी विधिवत शुरुआत की. संथाल परगना में सोहराय को आदिवासियों के महापर्व के नाम से जाना जाता है। झारखंड के पाकुड़ में प्रकृति का पर्व सोहराय की धूम शुरू हो गई है. सांसद विजय ने इसकी विधिवत शुरुआत की. संथाल परगना में सोहराय को आदिवासियों के महापर्व के नाम से जाना जाता है.पाकुड़ के के.के एम कॉलेज के आदिवासी छात्रावास के छात्रों ने सोहराय पर्व धूमधाम से मनाया. छात्रों ने मांदर की थाप पर जमकर नृत्य किया और खुशिया मनाई. पर्व की शुरुआत पूजा अर्चना के साथ शुरू हुई और कार्यस्थल पर गोट टंडी बनाया गया जहां विधिवित रूप से पूजा अर्चना की गई. परंपरा के अनुसार चूजे की बलि देने के बाद पूजा आरंभ कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। छात्र-छात्राओं ने पारंपरिक वेशभूषा में मांदर के थाप पर जमकर नृत्य किया. मुख्य अतिथि के रूप में सांसद विजय हांसदा, बोरियो विधयक लोबिन हेम्ब्रम एवं झामुमो जिला अध्यक्ष श्याम यादव ने कार्यक्रम में भाग लिया. सांसद व विधायक स्वयं मांदर बजाते हुए छात्र छात्राओं के साथ नृत्य किया. सोहराय पर्व मुख्य रूप से धान काटने के बाद घर लाया जाता है. यह पर्व खासकर भाई बहन के पवित्र रिश्ते से जुड़ा हुआ है.इस पर्व में परंपरा के अनुसार भाई बहन को ससुराल से विदा कराकर लाते हैं इसके बाद प्रकृति की पूजा की जाती है. बैल का भी इस पर्व में खास महत्व है. यह पर्व हर गांव में अलग-अलग दिन में महीनों तक चलता है जिसमें अलग-अलग तरीके से प्रकृति की पूजा की जाती है। मौके पर झामुमो प्रखंड उपाध्यक्ष मुसलोउद्दीन शेख, अल्पसंख्यक अध्यक्ष हाविबुर रहमान, प्रकाश सिंह, शाहनवाज इक़बाल, किशोर भगत, नायको बाबा, लाल मरांडी राणा हेम्ब्रम, सुनील मुरमू, कोमल मुर्मू साइमन मुर्मू, बिहारी हांसदा एवं कॉलेज के शिक्षकों ने मुख्यरुप से भाग लिया।

ग्राम समाचार, पाकुड़ बिक्की कुमार भगत की रिपोर्ट।


Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें