expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Jamtara News: उपायुक्त ने स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया



ग्राम समाचार जामताड़ा, ब्यूरो रिपोर्ट:-  72वें गणतंत्र दिवस समारोह के सुअवसर पर जामताड़ा के ऐतिहासिक गाँधी मैदान में उपस्थित पुलिस अधीक्षक, उप विकास आयुक्त, अन्य पदाधिकारीगण, जनप्रतिनिधियों, ग्राम-प्रधानों, माताओं, बुर्जुगों, बहनों, भाईयों, मीडिया से संबंधित प्रतिनिधियों एवं बच्चों सहित सबों को जोहार एवं गणतंत्र दिवस की ढेर सारी शुभकामनायें देते हुए उपायुक्त फ़ैज अक अहमद मुमताज (भा प्र से) ने कहा कि आईये, हमसब मिलकर अपने देश के सभी वीर-सपूतों, अमर शहीदों एवं स्वतंत्रता सेनानियों, जिन्होंने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है, को अपना श्रद्धा-सुमन अर्पित करें। उन्होंने कहा सरकार द्वारा चलाए जा रहे जनकल्याणकारी एवं विकासोन्मुखी योजनाओं के फलस्वरूप आज जामताड़ा जिला प्रगति की ओर निरंतर अग्रसर है।उपायुक्त जामताड़ा फैज अक अहमद मुमताज (भा प्र से) का 72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर जिलेवासियों के नाम से संबोधन अभिभाषण के कुछ अंश विभागवार इस प्रकार हैं स्वास्थ्य विभाग वैश्विक महामारी कोविड-19 से निबटने में स्वास्थ्य विभाग द्वारा काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई गई। जामताड़ा जिले में कोविड-19 का पहला मामला माह अप्रैल 2020 में ग्राम विक्रमपुर से आया था जिसे पूर्णतः स्वस्थ कर घर भेजा गया उसके उपरान्त जिले में अबतक लगभग एक लाख पच्चीस हजार से ज्यादा लोगो के कोरोना सैम्पल लिए गये हैं एवं उनमें से लगभग एक लाख इक्कीस हजार तीन सौ टेस्टिंग की गई है जिसमें से कुल 1265 मरीज कोविड-19 पाॅजीटीव चिन्ह्ति हुए हैं जिनका समुचित ईलाज जिले के केविड-19 अस्पताल में चिकित्सकों के गहन देख-रेख में किया गया एवं 1259 लोगो को स्वस्थ कर घर भेजा गया है। जिले में कोविड-19 अस्पताल में एक भी कोविड-19 से संक्रमित मरीज की मृत्यु नहीं हुई है। जिले का कोविड-19 रिकवरी रेट 99.52 प्रतिषत है (लगभग 100 प्रतिशत)। कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के तहत जिले में दिनांक- 25.01.2021 तक कुल 612 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा चुका है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत जामताड़ा जिला में वित्तीय वर्ष 2020-21 में अब तक कुल 12,022 संस्थागत प्रसव, राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के अंतर्गत 13030 बच्चों का पूर्ण टीकाकरण, कुपोषण उपचार केन्द्र में अबतक 102 कुपोषित बच्चों को इलाज कर कुपोषण मुक्त किया गया। चलन्त चिकित्सा वाहन द्वारा अबतक कुल 33,545 मरीजों का इलाज किया गया। यक्ष्मा नियंत्रण कार्यक्रम के तहत् कुल 440 मरीेजों एवं कुष्ठ उन्मुलन कार्यक्रम के तहत् 85 मरीेजों को रोग मुक्त किया गया। आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत जिले में अबतक 2,41,927 गोल्डेन कार्ड बनाया जा चुका है एवं इस योजना के तहत कुल 11,337 मरीजों का इलाज किया गया है।इसी प्रकार मनरेगा के तहत अब तक 94 करोड़ 77 लाख 69 हजार की राशि व्यय कर 85,579 परिवारों को रोजगार मुहैय्या कराया गया है। बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत 1089 एकड़ जमीन पर आम बागवानी का कार्य किया गया। दीदी बाड़ी योजना अन्तर्गत 3906 योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है। सोकपिट के तहत 2365, कम्पोस्ट पिट के तहत के तहत 2480, रेन वाटर हार्वेस्टिंग के तहत 536, टीसीबी के तहत 7418 एवं फील्ड बंड के तहत 3801 योजनाऐं ली गयी है। साथ ही अब तक कुल 14,823 योजनाओं को पूर्ण किया गया। 113 आँगनबाड़ी केन्द्र भवन निर्माण का कार्य किया जा रहा है।प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत वित्तिय वर्ष 2016-21 तक कुल लक्ष्य 36,609 के विरूद्ध 26,326 आवासों को पूर्ण किया गया है। बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर आवास योजना के तहत वित्तिय वर्ष 2016-21 तक कुल लक्ष्य 1159 के विरूद्ध 862 आवास पूर्ण किया गया है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन कार्यक्रम के तहत 6369 स्वयं सहायता समूहों का गठन किया गया है। चक्रिय राषि के रूप में 5032 सखी मंडल तथा ब्स्थ् के रूप में 2885 सखी मंडल को प्रोत्साहन राशि सरकार द्वारा प्रदान की गयी। सखी मंडल के 450 परिवारों को मत्स्य पालन से जोड़ा गया। प्रधानमंत्री जीवन ज्योती बीमा योजना के तहत् 14200 सखी दीदीयों को जोड़ा गया है। फुलो झानों आर्शीवाद योजना के तहत 344 महिलाओं को वैकल्पिक रोजगार के साधन उपलब्ध कराया गया। दीदी बाड़ी योजना के तहत 5844 लाभूको को भी जोड़ा गया है। श्रम विभाग के तहत 7570 निर्माण श्रमिक तथा 15266 असंगठित श्रमिकों का निबंधन कराया गया है।  दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत कुल 956 गाँवों में विद्युतीकरण का कार्य किया जा चुका है। सौभाग्य योजना के तहत कुल 42975 (एपीएल/बीपीएल) लाभुकों को विद्युत कनेक्शन दिया जा चुका है।झारखण्ड सम्पूर्ण बिजली आच्छादन योजना के तहत 5 अदद् नये विद्युत शक्ति उपकेन्द्र का निर्माण किया जाना है, जिसमें प्रखण्ड नारायणपुर, करमाटाॅंड, फतेहपुर, नाला एवं जामताड़ा है। विद्युत शक्ति उपकेन्द्र, गेड़िया, नाला का कार्य पूर्ण है। पथ प्रमंडल, जामताड़ा के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 में अंगुठियाॅ मोड़ से बाबपुर पथ (19.880 किमी0) एवं धोतुला मोड़ से नाला पथ (19.950 किमी0) में चल रहे चौड़ीकरण एंव मजबूतीकरण का कार्य पूर्ण करा लिया गया है तथा वर्तमान में चल रहे 02 पथों (लगभग 50 किमी0) मे चौड़ीकरण एवं मजबूतीकरण का कार्य प्रगति में है। कृषि विभाग खरीफ मौसम में धान की खेती 52,000 हेक्टयर का लक्ष्य शत प्रतिशत आच्छादित किया गया है एवं रबी मौसम में ‘‘सरसों वही क्रान्ति नई’’ के तर्ज पर 20,293 हेक्टयर हेतु 300 क्विंटल बीज वितरण किया गया है। साथ ही एनएफएसएम/ BGRET की योजना भी किसानों हेतु कार्यान्वित की जा रही है। जिले में मिट्टी जाॅंच प्रयोगशाला अवस्थित है जिसे तथह दस हजार लक्ष्य के विरूद्ध अबतक आठ हजार मिट्टी के नमूनों की जाॅंच कर ली गई है। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना प्रति बूँद ज्यादा उपज के तहत कुल दो करोड़ आवंटन उपलब्ध है कार्य प्रगति पर हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत जिले में अबतक पीएम किसान पोर्टल के द्वारा लगभग एक लाख छः हजार चार सौ किसानो का डाटा सत्यापित किया गया है, जिसके तहत प्रथम किस्त में 94,885 किसानों को, द्वितीय किस्त में 92,425 किसानों को, तृतीय किस्त में 54,079 किसानों को, चतुर्थ किस्त में 50,342 किसानों को, पंचम किस्त में 31,133 किसानों को, शश्ठ किस्त में 29,401 किसानों को एवं सप्तम किस्त में 14,232 किसानों के खाते में प्रति किसान दो हजार रूपये की दर से सीधे डीबीटी के माध्यम से राशि भेजा गया हैं|  झारखण्ड कृषि ऋण माफी योजना के तहत किसान एक रूपये देने के बाद पचास हजार रूपये तक के कर्ज माफी का लाभ ले सकतें है बशर्ते कि 31 मार्च 2020 को केसीसी खाता क्रियाशील हो अर्थात जिसमें लेन-देन हुआ हो। इस योजना का लाभ परिवार के मात्र एक ही सदस्य लेने के हकदार हैं।राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत आपूर्ति विभाग*: के तहत गृहस्थ योजना के अन्तर्गत 6,32,994 व्यक्तियों को 05 किलोग्राम तथा अन्त्योदय योजना के अंतर्गत 18062 प्रति कार्डधारी प्रति माह 35 किलोग्राम खाद्यान्न का वितरण किया जाता है। झारखण्ड राज्य खाद्य योजना के कुल 3224 सदस्यों को भी लाभान्वित किया गया है। पीटीजी योजना अंतर्गत (पाहाड़िया आदिम जनजाति) के कुल-1175 कार्डधारियों को मुफ्त में प्रति कार्ड 35 किलो खाद्यान्न घर-घर जाकर उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके अतिरिक्त कोविड-19 के दौरान माह अप्रैल 2020 से नवम्बर 2020 तक कुल 24 दालभात केन्द्रों में 7,82,208 लाभुकों को निः शुल्क भोजन उपलब्ध कराया गया एवं आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत् 6820 प्रवासी मजदूर एवं 46,890 अन्य कुल 53,710 लाभुकों को खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया। एवं च्डळज्ञ।ल् योजना के अंतर्गत माह अप्रैल 2020 से नवम्बर 2020 तक राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा से अच्छादित लाभुकों को निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया है। एवं पीएमजीकेएवाइ योजना के तहत् राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा से अनाच्छादित कुल 8829 लाभुकों को 10-10 किलोग्राम खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया है। झारखण्ड राज्य आकस्मिक राहत पैकेट के तहत् सभी प्रखण्डों में 500-500 (चुडा, चना एवं गुड) का पैकेट वितरण किया गया है। इसके अतिरिक्त झारखण्ड राज्य आकस्मिक खाद्यान्न कोष के तहत प्रत्येक पंचायत एवं नगर निकाय के वार्डाे में 10-10 हजार रूपये का प्रावधान किया गया है। इस कोष से आकस्मिक स्थिति में जरूरत पड़ने पर जरूरतमंदो को खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाता हैं। धान अधिप्राप्ति में जिले के कुल लक्ष्य 1,05,000 (एक लाख पाॅंच हजार क्विंटल) धान क्रय के विरूद्ध कुल 4143 रजिस्टर्ड किसानो में से कुल 649 किसानों से कुल 43,600 (तैंतालीस हजार छः सौ) क्विंटल धान क्रय किया जा चुका है एवं एक करोड़ इक्यानवे लाख छियासी हजार रूपये की राशि का भुगतान किया जा चुका है।  राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम के तहत संचालित विभिन्न पेंषन योजनान्र्तगत 68520 लाभुकों को डीबीटी के माध्यम से पेंशन भुगतान किया जा रहा है। राष्ट्रीय पारिवारिक हित लाभ योजना अंतर्गत कुल 50 लाभुकों को अनुदान राशि का भुगतान बैंक खाता में डीबीटी के माध्यम से किया गया है। कम्बल एवं वस्त्र वितरण योजना अंतर्गत कुल 25056 कम्बल वितरण कर दिया गया है। मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के तहत अब तक 4175 लाभुकों को स्वीकृति प्रदान की गई है। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना अंतर्गत 16299 लाभुकों को लाभ प्रदान की गई है। तेजस्वनी परियोजना के अन्तर्गत 594 क्लब का गठन किया गया जिसमें सेनेटरी पैड बैंक की स्थापना किया गया है। 35853 किशोरियों एवं युवतियों का उक्त क्लबों में पंजीकृत किया गया है। इस परियोजना अन्तर्गत जिले के 12285 स्कूल से विमुक्त किशोरियों एवं युवतियों को शिक्षा से जोड़ने का कार्य किया गया है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना फेज-1 के तहत इस वित्तीय वर्ष 01 पथ जिसकी लम्बाई 1.370 कि.मी. है, में से 1.091 कि.मी. का कार्य पूर्ण कराया जा चुका है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (फेज-2) अन्तर्गत 03 पथों जिसकी कुल लम्बाई 37.710 कि.मी. है, में से 10.718 कि.मी. का कार्य पूर्ण कराया जा चुका है।पेयजल एवं स्वच्छता के तहत जसपुर, नाला ग्रामीण पाईप जलापूर्ति योजना पूर्ण रुपेण चालू करा दिया गया है। एससी/एसटी टोलों में सोलर आधारित पाईप जलापूर्ति योजना के तहत कुल-434 अदद पूर्ण कर चालू किया गया है। आदर्श ग्राम खैरा के खैरा टोला, चारेडीह टोला एवं बड़जोड़ा के आदिवासी टोला में जलापूर्ति योजना चालू है। पीटीजी टोलों में सोलर आधारित पाईप जलापूर्ति योजना के तहत 69 अदद जलापूर्ति चालू किया गया है। जल जीवन मिशन के तहत करमाटाँड़ बहुग्रामीण जलापूर्ति योजना की स्वीकृति हो चूकी है। जामताड़ा जिला के सभी घरों में वर्ष 2024 तक नल से जल देने का लक्ष्य निर्धारित है।सी0एस0आर0 जिला अन्तर्गत कई सरकारी भवन हैं जो रखरखाव के अभाव में जीर्ण-शीर्ण अवस्था में है। इन पुराने जर्जर भवनों का जीर्णाद्वार कर सामुदायिक सहयोग से लाइब्रेरी के रूप में विकसित किया गया है इससे ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों, युवाओं, बड़े-बुजुर्गों को काफी सहूलियत होगी। वर्तमान में करीब 35 पुस्तकालय अधिष्ठापित किये जा चुका है। इस वित्तीय वर्ष तक 60 से अधिक पंचायतों में सामुदायिक पुस्तकालय अधिष्ठापित किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।समेकित जनजातीय विकास अभिकरण वन पट्टा का वितरण में वित्तीय वर्ष 2020-21 में अनुसूचित जनजाति एवं अन्य परम्परागत वन निवासी (वन अधिकारों की मान्यता) अधिनियम, 2006 के अन्तर्गत जामताड़ा जिला के विभिन्न प्रखण्डों में कुल 36 व्यक्तिगत वन पट्टों का वितरण किया गया है, जिसमें सन्निहित भूमि का रकवा - 19.805 एकड़ है। प्री-मैट्रिक छात्रवृति योजना में वित्तीय वर्ष 2020-21 में एसटी/एससी/ओबीसी के छात्र-छात्राओं को 8.23 करोड़ पीएफएमएस के माध्यम से छात्रवृत्ति की राशि भुगतान का लक्ष्य है।पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृति योजना में वित्तीय वर्ष 2020-21 में एसटी एससी ओबीसी के विद्यार्थियों को 1.00 करोड के माध्यम से छात्रवृत्ति की राशि भुगतान का लक्ष्य है। चिकित्सा अनुदान अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 में गरीबी रेखा से नीचे गुजर-बसर कर रहे  एसटी, एससी, ओबीसी हेतु प्राप्त आवंटन 25.00 लाख के अन्तर्गत अबतक 75 लाभुकों को उनके बैंक खाता में राशि हस्तातंरण कराते हुए चिकित्सा सहायता प्रदान की गई है एवं शेष बचे लाभुकों को भुगतान की कार्रवाई की जा रही है।सी.सी.डी. योजना: जिला के विभिन्न प्रखंडों में आदिम जनजाति (पहाड़िया) बाहुल्य 16 ग्रामों में सौर उर्जा आधारित लघु ग्रामीण जलापूर्ति योजना का कार्य किया जा रहा है। अनुसूचित जनजातियों के लिए 03 धुमकुड़िया हाऊस, 15 मांझीथान शेड निर्माण कार्य लाभुक समिति के माध्यम से कराया जा रहा है। अनुसूचित जनजातियों के लिए 07 जाहेरस्थान घेराबंदी का निर्माण कार्य लाभुक समिति के माध्यम से कराया जा रहा है। अल्पसंख्यकों के लिए 03 कब्रिस्तानों की पक्की घेराबंदी का कार्य लाभुक समिति के माध्यम से कराया जा रहा है। पहाड़िया परिवार के लिए कुल 41 बिरसा आवास निर्माण का कार्य लाभुक के माध्यम से कराया जा रहा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम: के तहत इस जिले में विगत तीन वर्षों में 204 शिक्षित बेरोजगार युवक/युवतियों को ऋण मुहैया करवा कर उद्योग स्थापित किया गया । जिसमें 571 गरीब बेरोजगार युवक/युवतियाँ लाभांवित हुए हैं। औद्योगिक विकास के प्रोत्साहन के उद्वेश्य से जिले में सिंगल विंडो सिस्टम संचालित है। इसके अन्तर्गत 105 एकड़ जमीन जियाडा, राँची को हस्तांतरित कर दी गयी है।शिक्षा विभाग के तहत कुल 280 शिक्षक की नियुक्ति की गयी है। जिले के सभी विद्यालयों में कक्षा 1 से 10 तक अध्ययनरत सभी छात्र/छात्राएँ को निःशुल्क पाठ्य पुस्तक उपलब्ध कराया गया है तथा पोशाक क्रय हेतु उनके खातो में राशि अंतरण किया जा रहा है।कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्थिति में गुणवत्ता शिक्षा उपलब्ध कराने हेतु ऑनलाइन क्लास से जोड़ा गया है। कक्षा 1 से 8 तक के छात्र-छात्राओं के लिए jharkhanddigischool app तथा कक्षा 9 से 12 तक के छात्र-छात्राओं के लिए learnytic App के माध्यम से online class संचालित की जा रही है।राजस्व संवर्द्धन के तहत क्षेत्र में 40% का उल्लेखनीय राजकोषीय वृद्धि दर्ज किया गया है। अवैध शराब के कारोबारियों के विरूद्ध व्यापक निरोधात्मक कार्रवाई के तहत कुल-89 अभियोग दर्ज करते हुये, कुल-994.62 ली0 अवैध शराब की जप्ती अबतक की गई है।अंत में एक बार फिर उपायुक्त ने सभी को 72वीं गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई देते हुए आज के दिन एक बार संकल्प लेने को कहा कि हम सभी भारतवासी धर्म एवं जाति की भावनाओं से उपर उठकर एक रहें और हम अपने देश के गणतंत्र को अक्षुण्ण बनायें रखेंगे।


Share on Google Plus

Editor - भुपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें