expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pakur News: रानी ज्योतिर्मय स्टेडियम पाकुड़ में सूबे के संसदीय कार्य मंत्री एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने किया झंडोत्तोलन

ग्राम समाचार, पाकुड़। 74 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर रानी ज्योतिर्मय स्टेडियम पाकुड़ में सूबे के संसदीय कार्य मंत्री सह ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने झंडोत्तोलन किया। इससे पूर्व उन्होंने परेड का निरीक्षण किया। अपने संबोधन में मंत्री ने कहां कि 15 अगस्त 1947 के बाद प्रतिवर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। उन्होंने स्वतंत्रता सेनानियों आम लोगों के त्याग और बलिदान से मिले स्वतंत्रता को याद रखने एवं उनके द्वारा दिखाए गए सपने को साकार करने के प्रति हमें एकजुट होकर रहने को कहा। हम जब एकजुट रहेंगे तभी कठिन से कठिन कार्य को भी कर सकेंगे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के मंत्र को हमें याद रखना है। झारखंड राज्य गठन हुए 20 वर्ष पूरे हो गए हैं। हमें आकलन करना चाहिए कि राज्य गठन के बाद क्या मिला और आगे क्या करने की आवश्यकता है। हमारी सरकार गठन होने के कुछ दिन बाद ही वैश्विक महामारी कोविड -19 ने दस्तक दे दी। इस महामारी से हमारी सरकार ने डटकर मुकाबला किया। इसके रोकथाम के लिए क्वॉरेंटाइन करने के साथ ही आम लोगों के जीविका - जीवन के लिए सरकार ने निरंतर काम किया। उन्होंने स्थानीय प्रशासन को सरकार से प्राप्त दिशा निर्देशों के अनुरूप कार्य करने को लेकर बधाई दी। देश के विभिन्न राज्यों में फंसे छात्रों - प्रवासी श्रमिकों को घर वापसी के लिए काफी मेहनत किया। घर वापसी के बाद प्रवासी श्रमिकों के जीविको पार्जन के लिए उन्हें रोजगार देने के दिशा में भी सरकार ने काम कियाक्  तीन नई योजनाओं की शुरुआत की गई। जिसमें बिरसा हरित ग्राम योजना, नीलांबर - पितांबर जल समृद्धि योजना एवं वीर शहीद फोटो खेल विकास योजना शामिल है। जुलाई माह में 7,62,000 लोगों को काम दिया गया है। 4,84,000 नया जॉब कार्ड निर्गत किया गया है।लॉकडाउन के बावजूद जिले में हर संभव विकास का कार्य किया गया है। महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना कौशल विकास योजना एवं रोजगारन्मुखी योजनाओं के माध्यम से ग्रामीण बेरोजगारी को दूर करने एवं रोजगार सृजन करने का हमारा प्रयास जारी है। वित्तीय वर्ष 2020 - 21 में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के तहत कुल 1,77,016 निबंधित परिवारों को रोजगार कार्ड उपलब्ध कराते हुए कुल 10,17,200 मानव दिवस का सृजन करते हुए कुल 42,729 परिवारों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है।  इसके अतिरिक्त लॉकडाउन में विभिन्न राज्यों से लाए गए 12,214 प्रवासियों में से कुल 8,645 प्रवासी मजदूरों को जॉब कार्ड निर्गत कर उन्हें मनरेगा के तहत संचालित योजनाओं में काम दिया गया है। सरकार पर्यावरण में संतुलन बनाए रखने एवं प्रदेश को हरा-भरा रखने तथा जल्द समृद्धि कार्यक्रम को प्रभावी बनाने की दिशा में कृत संकल्पित है पानी रोको पौधारोपण अभियान राज्य सरकार की महत्वकांक्षी योजना है जिसके तहत इस जिले के कुल 128 पंचायतों के कुल 1,246 गांव को स्थापित किया गया है इसके तहत नीलाम्बर  पीतांबर जल्द समृद्धि योजना के तहत क्रियान्वित 3,307 योजनाओं में से 22 योजनाएं पूर्ण कर ली गई हैं तथा कुल 3,285 योजनाएं चालू स्थिति में है बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत क्रियान्वित कुल 653 योजनाएं चालू स्थिति में है। बारिश के पानी का संग्रहण कर जल स्तर बनाए रखने के उद्देश्य से रेन वाटर हार्वेस्टिंग की योजनाएं पाकुड़ जिले के सभी 128 पंचायतों में क्रियान्वित की जा रही हैं इस वित्तीय वर्ष में अब तक निर्धारित लक्ष्य कुल 640 के विरुद्ध 462 योजनाएं स्वीकृत करते हुए चालू स्थिति में है। सभी बेघर निर्धनों को आवास उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में क्रियान्वित की जा रही है  ग्रामीण क्षेत्रों हेतु अब तक कुल 44,856 आवासों के लक्ष्य के विरुद्ध शत-प्रतिशत लाभुकों को स्वीकृति प्रदान करते हुए अब तक कुल 31,904 आवाज को पूर्ण कर गिरी प्रवेश कराया जा चुका है 31 अगस्त 2020 तक शेष आवास शत-प्रतिशत पूर्ण कराते हुए गृह प्रवेश कराने का लक्ष्य रखा गया है शहरी क्षेत्र में कुल 141 आवास पूर्ण किया जा चुका है आज 65 आवासों में गृह प्रवेश कराया जा रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना के क्रियान्वयन में झारखंड पूरे देश में अव्वल है। टॉप 20 जिलों में कुल 12 जिले झारखंड के शामिल हैं। आवागमन की सुविधा के लिए सड़कों एवं पुलों का निर्माण एवं सुदृढ़ीकरण हेतु सरकार कृत संकल्पित है सरकारी प्रयासों से सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र में भी प्रखंड एवं जिला मुख्यालय से जुड़ चुका है दुर्गम क्षेत्रों में भी सड़कों का जाल बिछ रहा है आवागमन को और सुदृढ़ बनाने के उद्देश्य से विभिन्न विभागों के माध्यम से नए पदों का निर्माण एवं पदों का उन्नयन तथा कई बड़े एवं छोटे छोटे पुल एवं पुलिया का निर्माण कर जिला में आवागमन को सुलभ बनाया जा रहा है। आर्थिक रूप से पिछड़े एवं असहाय लोग के उत्थान एवं जीविका पालन करने के लिए समाज कल्याण एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा विभिन्न समावेशी कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं इसके तहत विभिन्न पेंशन इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पैंशन योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विकलांग पेंशन योजना, सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना, आदिम जनजाति पेंशन योजना, विधवा सम्मान योजना तथा आईडीपीएस के तहत पेंशन धारियों को पेंशन का लाभ दिया जा रहा है। उसी प्रकार मुख्यमंत्री सुकन्या योजना स्वामी विवेकानंद निशक्त स्वालंबन प्रोत्साहन योजना मुख्यमंत्री कन्यादान योजना पूरक पोषाहार योजना दिव्यांग छात्रवृत्ति प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना एवं दिव्यांग यंत्र योजना के माध्यम से लाभुकों को लाभ प्रदान किया जा रहा है। इसके अलावा भी भिन्न-भिन्न योजनाओं के माध्यम से जिले वासियों के सर्वांगीण विकास के लिए सरकार सार्थक कदम उठा रही है पाकुड़ वासियों के हितों के लिए जो भी आवश्यक होगा उसके लिए सरकार दिन-रात प्रयासरत रहेगी। मंच से मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करने का अपील। ग्रामीण विकास मंत्री ने झंडोत्तोलन मंच से आम जनों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए कहे की कोरोनावायरस से हमारी लड़ाई अभी जारी है इसलिए सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करें, अनावश्यक घर से बाहर ना निकले बाहर निकलना जरूरी हो तो सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का प्रयोग करें।नियमित हाथ की सफाई करें और अपने घर के बुजुर्गों और बच्चों का विशेष ध्यान रखें। मौके पर उपायुक्त कुलदीप चौधरी, पुलिस अधीक्षक मणिलाल मंडल, उप विकास आयुक्त अनमोल कुमार सिंह, डीआरडीए निदेशक राधेश्याम प्रसाद, विशेष कार्य पदाधिकारी कुमार गौतम समेत अन्य प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारी, विभिन्न संघों के अध्यक्ष - सचिव, गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधि, प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधि एवं आम जन उपस्थित थे।


Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें