Pakur News : चार्ज पदाधिकारियों को मिली एचएलबी मैपिंग की जानकारी


ग्राम समाचार, पाकुड़: जनगणना 2021 के लिए सूचना भवन स्थित कांफ्रेंस हाल में सभी चार्ज पदाधिकारियों को दो दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के दूसरे दिन मंगलवार को सभी पदाधिकारियों को हैंड्स ऑन ट्रेनिंग दिया गया। इस अवसर पर जिला जनगणना पदाधिकारी सह अपर समाहर्ता जय किशोर प्रसाद ने अपने संबोधन में जनगणना के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह देश की 16वीं जनगणना है। उन्होंने जनगणना की संपूर्ण प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने कहा की जनगणना के माध्यम से प्राप्त विभिन्न आंकड़े सर्वाधिक प्रमाणिक आंकड़े होते हैं। इन आंकड़ों के आधार पर ही देश में नीतियों का निर्धारण होता है तथा जन कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाता है। इसलिए जनगणना कार्य में डाटा की गुणवत्ता अत्यंत महत्वपूर्ण हो जाती है।उन्होंने कहा कि अन्य माध्यमों से प्राप्त आंकड़े सैंपल पर आधारित होते हैं, जो वास्तविक आंकड़ों से भिन्न होते हैं। उन्होंने सभी चार्ज पदाधिकारियों को इस अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य को उच्च प्राथमिकता देते हुए निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत पूर्ण करने का निर्देश दिया। डाटा संकलन में आंकड़ों की वास्तविकता का विशेष रुप से ध्यान रखने का निर्देश दिया। जिला में जनगणना कार्य के लिए कुल 11 चार्ज निर्धारित किए गए हैं। सभी छह प्रखंडों, नगर परिषद पाकुड़, सिंगारसी विशेष चार्ज, कुमारपुर सीटी, रघुनंदनपुर सीटी, संग्रामपुर सीटी के लिए अलग - अलग चार्ज के रूप में निर्धारित है। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी संबंधित प्रखंड के चार्ज पदाधिकारी हैं। जनगणना के तहत मकान सूचीकरण एवं मकानों की गणना तथा राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर के अद्यतिकरण का कार्य सितंबर 2020 माह तक किया जाना है। यह कार्य मैनुअल, पेपर में प्रविष्टि दर्ज कर तथा डिजिटल मोबाइल एप के माध्यम से किया जाएगा। डिजिटल माध्यम को प्राथमिकता दिया गया है।
*- एचएलबी मैपिंग का मिला प्रशिक्षण
बतौर प्रशिक्षक अंचलाधिकारी पाकुड़ आलोक वरण केसरी एवं महेशपुर अंचलाधिकारी रितेश जयसवाल ने बताया कि पहले चरण में मकानों का सूचीकरण कार्य किया जाएगा। इसके लिए मोबाइल एप का उपयोग किया जाना है। उन्होंने इस क्षेत्र में उपयोग को लेकर आने वाली परेशानियों से भी अवगत कराया गया। मोबाइल एप में डाटा इंट्री के बाद उसमें सुधार, आवासीय, गैर आवासीय, धार्मिक प्रतिष्ठान, अस्पताल की जानकारी एप में भरने की जानकारी भी दी गई। प्रशिक्षण में पीपीटी के माध्यम से डाटा इंट्री के सतह पर ऑनलाइन एचएलबी मैपिंग के संबंध में भी बताया गया। प्रशिक्षकों ने सभी चार्ज पदाधिकारियों को व्यवहारिक प्रशिक्षण भी दिया।
*नजरी नक्शा तैयार करने का मिला प्रशिक्षण*
चार्ज पदाधिकारियों को नजरी नक्शा तैयार करने का प्रशिक्षण दिया गया। उन्हें मकानसूची ब्लाक की सटीक सीमाओं को चिन्हित करने, सरल पहचान के लिए महत्वपूर्ण स्थलों को दर्शाने, क्रमिक रूप से समस्त संरचनाओं को यथा संभव सही दर्शाने, मकानसूची ब्लाक के हर हिस्से को व्यवस्थित रूप से कवर करने के लिए सबसे अच्छे मार्ग की योजना बनाने आदि की विस्तृत जानकारी दी। प्रशिक्षकों ने चार्ज पदाधिकारियों को नजरी नक्शे की मूल बात, नजरी नक्शे का नमूना, नजरी नक्शे को तैयार करना, निपुणता का मूल समूह आदि के संबंध में विस्तार से बताया। मौके पर एसडीओ प्रभात कुमार, डीपीओ चंद्रभूषण तिवारी, डीएसई दुर्गानंद झा, कार्यपालक दंडाधिकारी लक्ष्मी नारायण किशोर, डीपीआरओ महेश कुमार, सांख्यिकी पदा. राम खेवर प्रसाद, डीएसओ शिव नारायण यादव, बीडीओ महेशपुर दीलीप कुमार महतो, नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी गंगाराम ठाकुर, बीडीओ पाकुड़िया मिथिलेश कुमार चौधरी, बीडीओ अमड़ापाड़ा निशा कुमारी सिंह, बीडीओ लिट्टीपाड़ा पंकज कुमार रवि आदि उपस्थित थे।  
Share on Google Plus

About विनोद दास, पाकुड़

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment