18 अप्रैल से होगी शहरी स्वराज अभियान की शुरुआत 5 मई तक चलेगा, कैबिनेट मंत्री कविता जैन ने दी विस्तृत जानकारी

ग्राम समाचार न्यूज़ : चंडीगढ़ (हरियाणा) : हरियाणा सरकार ने 18 अप्रैल से 5 मई तक  ‘शहरी स्वराज अभियान’ मनाने का निर्णय लिया है। यह निर्णय आज यहां हरियाणा की शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन  की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया। मंत्री जैन ने अधिकारियों को अभियान के दौरान सामाजिक समरसता को बढ़ावा देने, शहरी गरीब जनता तक पहुंच बनाने, योजनाओं के क्रियान्वयन पर प्रतिक्रिया प्राप्त करने, नवाचार, शहरी गरीबों की आय के साधनों को बढ़ाने, आजीविका के अवसरों को बढ़ाने एवं राष्ट्रीय प्राथमिकताओं जैसे स्वच्छता एवं शहरी स्थानीय निकायों को सुदृढ़ीकरण पर जोर दिए जाने के निर्देश दिए। 18 अप्रैल से शुरू होने वाले शहरी स्वराज अभियान की समयसारिणी कुछ इस प्रकार से है-

18 अप्रैल- को जिलों में शहरी स्वराज अभियान की शुरूआत मंत्रियों, सांसदों ,विधायकों, मेयरों तथा उपायुक्तों तथा प्रमुख व्यक्तित्वों द्वारा की जाएगी व स्पेशल वार्ड सभाओं का आयोजन किया जाएगा।
19 अप्रैल- पार्कों, स्कूलों, कॉलेजों, आरडब्ल्यूएएस में कूडे -कचरे के स्त्रोत पर ही पृथककरण के महत्व के साथ-साथ कचरा प्रबंधन की जानकारी दी जाएगी इसके अलावा, इस दिन जिन्होंने शहरों में कचरा प्रबंधन के निपटान के लिए मशीनरी बनाने वाले मैनुफेक्चररर्स व उद्यमियों को सम्मानित किया जाएगा। इस दिन को प्लास्टिक फ्री डे के रूप में मनाया जाएगा।
20 अप्रैल- 3R-रिडयूस, रियूज एण्ड रिसाईकिलिंग पर केंद्रित होगा। जिसमें विशेषज्ञों के 3 आर पर इंटरैक्टिव सत्र का आयोजन किया जाएगा, इसके अलावा शहरों में कूड़े कचरे-कबाड़ी वालों को स्वच्छता में योगदान के लिए सम्मानित किया जाएगा। विद्यार्थियों को स्वच्छता शपथ एवं शहरों में अपसाइक्लिंग कार्यशालाओं का आयोजन किया जाएगा।
21 अप्रैल- अनुकरणीय कार्य करने वाले स्वच्छता कार्यकर्ता, सफाई-कर्मचारियों को सम्मानित किया जाएगा, इस दौरान स्वच्छता में सुधार के लिए श्रमिकों से विचार लिए जाएंगे। इसके अलावा, सफाई कर्मचारियों और स्वच्छता कर्मचारियों के लिए स्वास्थ्य जांच शिविरों का आयोजन किया जाएगा।
22 अप्रैल- एनएसएस, एनसीसी, युवा क्लब के युवाओं को अस्वच्छता एवं गाद से स्वतंत्रता के प्रति जागरूकता के अलावा युवाओं के लिए बड़े पैमाने पर स्वच्छता शपथ का आयोजन किया जाएगा।
23 अप्रैल- स्कूलों, कालेजों व संस्थानों के विद्यार्थियों को अस्वच्छता एवं गाद से स्वतंत्रता के प्रति जागरूकता के लिए पेंटिंग, निबंध तथा विचार गोष्ठिïयां करवाई जाएंगी तथा बड़े पैमाने पर विद्यार्थियों द्वारा जगह जगह पर स्वच्छता शपथ का आयोजन किया जाएगा।
24-25 अप्रैल- सभी शहरों और कस्बों में जन स्वच्छता ड्राइव का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान, जगह-जगह पर मैराथन व वाकथोन आयोजित की जाएगी। वार्ड काउंसलर्स / एमसीएस को स्वच्छता ऐप के सबसे सक्रिय उपयोगकर्ताओं को सहयोगी नागरिकों के रूप में पुरस्कृत करेंगे।
26-27 अप्रैल- शहर में सामुदायिक और सार्वजनिक शौचालयों के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। सामुदायिक शौचालयों के रखरखाव के लिए झुग्गी-झोपड़ी में रहने वालों को जागरूक किया जाएगा। गूगल मैप पर स्वच्छ सार्वजनिक शौचालयों के लिए फीडबैक प्रदान करने वाले सबसे अधिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं को प्रोत्साहित किया जाएगा।
28-29 अप्रैल- कंपोस्ट ड्राइव चलाई जाएगी जिसमें प्रत्येक सब्जी मंडी में कंपोस्टिंग उपकरण स्थापित किए जाएंगे। रेजिड़ेंट वेल्फेयर एसोसिएशन और वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों को उनके गीले कचरे को खाद बनाने के लिए प्रोत्साहित करने की ड्राइव चलाई जाएगी।
30 अप्रैल-1 मई- ओडीएफ प्लस ड्राइव चलाया जाएगा जिसमें तरल कचरा निपटान और उपचार प्रणाली के लिए कनेक्शन प्रदान किए जाएंगे। समुदायों में पिट शौचालयों और सेप्टिक टैंकों को प्रबंधित करने पर संवेदनशीलता और जागरूकता ड्राइव भी चलाई जाएगी।
2 मई- इंद्रधनुष टीकाकरण कार्यक्रम के तहत 2 वर्ष से कम और गर्भवती महिलाओं के सभी बच्चों को कवर करने, सभी अस्पतालों / क्लीनिकों को अलग-अलग कचरे के लिए कचरे के डिब्बे लगाने के लिए, अस्पतालों के सभी वार्डों और अस्पताल परिसर में भारी सफाई ड्राइव तथा चिकित्सकों, नर्सों, कर्मचारिर्यों , मरीजों और आगंतुकों को स्वच्छता के महत्व के प्रति जागरूकता प्रदान की जाएगी।
3-4 मई- नगरपालिकाओं में सभी जल निकायों की पहचान / सर्वेक्षण, निकटतम नहर के माध्यम से जल निकायों को रिचार्ज करने के लिए अल्पावधि और लंबी अवधि की योजना तैयार करना, सभी जल निकायों में मास सफाई ड्राइव और नदी के किनारों की सफाई पर केंद्रित होगा।
5 मई- यह दिन महिला स्वच्छता पर केंद्रित रहेगा। शहरों में एसएचई शौचालयों के उद्घाटन व नींव पत्थर रखे जाएंगे, सैनीटर नेंपकिन वेंडिंग मशीन की स्थापना और क्रीमेटोरिअन सभी सामुदायिक शौचालयों / पीटीएस पर की जाएगी। झुग्गी और गरीब समुदाय की महिलाओं को कम लागत वाली सैनिटरी नैपकिन प्रदान किए जाएंगे।

मंत्री कविता जैन ने अधिकारियों को इस दौरान शहरी स्थानीय निकाय द्वारा चलाई जा रही स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन, प्रधान जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, पीएम सुरक्षा बीमा योजना और मिशन इंद्रधनुष पर सार्वभौमिक कवरेज प्रदान करने के भी निर्देश दिए।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>