हरियाणा पंचायतीराज निर्वाचन नियम 1994 के तहत खंड रेवाड़ी, बावल, डहीना व खोल की फोटोयुक्त मतदाता सूचियों में संसोधन का कार्य

ग्राम समाचार रेवाड़ी (हरियाणा) : हरियाणा पंचायतीराज निर्वाचन नियम 1994 के तहत खंड रेवाड़ी, बावल, डहीना व खोल के अंतर्गत आने वाले 9 गांवों में रिक्त पंच पदों के उप चुनाव के मद्देनजर एक जनवरी 2018 को आधार तिथि मानकर संबंधित वार्ड की फोटोयुक्त मतदाता सूचियों में संसोधन का कार्य किया जाना है, जिसकी प्रारूप मतदाता सूची 20 जून तक तैयार की जाएगी। उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) पंकज ने बताया कि उक्त फोटोयुक्त मतदाता सूचियों का प्रारंभिक प्रकाशन 21 जून को किया जाएगा तथा 30 जून को सांय 3 बजे तक दावें एवं आपत्तियां प्राप्त की जाएंगी। उन्होंने बताया कि 4 जुलाई 2018 तक जिला निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) द्वारा दावों एवं आपत्तियों का निपटारा कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि 10 जुलाई 2018 तक जिला निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) द्वारा किए गए निपटारों के विरूद्ध अपील की जा सकेगी, जिसके उपरांत 18 जुलाई 2018 तक अपीलेट अथॉरिटी द्वारा अपील का समाधान कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि 23 जुलाई 2018 को मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन होगा। जिला निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) ने बताया कि उक्त संसोधन कार्यक्रम के तहत खंड रेवाड़ी के गांव बैरियावास के वार्ड नंबर 4, मीरपुर के वार्ड नंबर 6, खंड बावल के गांव हरचंदपुर के वार्ड नंबर एक, खुर्मपुर के वार्ड नंबर 3, पीथनवास के वार्ड नंबर 4 व नांगल शहबाजपुर के वार्ड नंबर 2 में, खंड डहीना के गांव धवाना के वार्ड नंबर 11, खंड खोल के गांव धामलावास के वार्ड नम्बर एक व ढाणी सुन्दरोज के वार्ड नम्बर 4 में मतदाता सूची संसोधन का कार्य किया जाएगा। उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) ने हरियाणा पंचायती राज निर्वाचन नियम 1994 के तहत उपमण्डल अधिकारी (ना.) रेवाडी को खण्ड रेवाडी व खोल, उपमण्डल अधिकारी (ना.) बावल को खण्ड बावल व उपमण्डल अधिकारी (ना.) कोसली को खण्ड डहीना के लिए जिला निर्वाचान अधिकारी नियुक्त किया है जो अपने-अपने क्षेत्रों में उप-चुनाव हेतू मतदाता सूचियों को तैयार करवायेगें।

Loading...

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>