संथाल परगना प्रमंडल स्तरीय बजट संगोष्ठी में लोगों ने बजट पर दी अपनी अपनी राय

cm raghuwar dasग्राम समाचार पाकुड़ (झारखंड)।  पाकुड़ के बाजार समिती मैदान में संथाल परगना प्रमंडल स्तरीय बजट संगोष्ठी में सभी 6 जिलों से आए लोगों ने बजट पर अपनी अपनी राय माननीय मुख्यमंत्री  रघुवर दास को दी।
पाकुड़ जिला के प्रतिनिधि के रूप में आये डॉक्टर टीपी भगत ने अपने सुझाव में कहा कि पाकुड़ जिला की शिक्षा व्यवस्था को सुधारने की जरूरत है। विश्वविद्यालय में जरूरी सुविधा इस बजट के माध्यम से उपलब्ध कराए जाएं । पाकुड़ जिला में कौशल विकास के क्षेत्र में कार्य करने की जरूरत है ताकि युवाओं को मुख्यधारा में लाया जा सके ।
पाकुड़ जिला के महिला प्रतिनिधि के रूप में आए नितिका ने कहा कि जरूरी जगहों पर चेक डैम का निर्माण कराया जा सके ताकि लोगों को परेशानी ना हो । पाकुड़ जिला के कृषक प्रतिनिधि ने कहा कि मुख्यमंत्री जी द्वारा हर गरीबों पर ध्यान दिया गया है बिचौलियों और दलालों को समाप्त कर दिया गया है उन्होंने कहा कि पाकुड़ जिला में अस्पतालों में जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए ताकि हमारे परिवार के लोगों को जरूरी इलाज के लिए कहीं दूर ना जाना पड़े। उन्होंने कहा कि बेटी को पढ़ाने के लिए हमें दूर भेजना पड़ता है उन्होंने कहा कि ऐसी कोई व्यवस्था इस बजट के माध्यम से की जाए कि हमारी बेटियों को पढ़ने के लिए कम से कम दूर ना जाना पड़े। उन्होंने कहा कि स्कूल में कंप्यूटर सिखाने की भी सुविधा हो ताकि हमारी बेटियां भी समाज के साथ कदम से कदम मिलाकर चल सके । कृषक प्रतिनिधि के रूप में पाकुड़ जिला से आए उन्होंने कहा कि 1000 हेक्टेयर की जूट की खेती हमारे यहां होती है लेकिन सरकार द्वारा हमें बीमा का लाभ मिल सके तथा सिंचाई की कोई व्यवस्था नही मिल पाती है इसके लिए कोई व्यवस्था की जाए। पाकुड़ जिला के छात्र प्रतिनिधि ने कहा कि छात्रवृत्ति में कटौती नहीं किया जाए। के के एम कॉलेज पाकुर में कॉमर्स की पढ़ाई शुरू कराया जाए ।

चेंबर ऑफ कॉमर्स पाकुड़ के प्रतिनिधि ने कहा कि व्यापारियों के साथ बैठ कर बात करनी चाहिए उन्होंने कहा कि सारे टेंडर ई टेंडर के माध्यम से हो सिंगल विंडो सिस्टम के तहत कोई कार्य नहीं हो रहा है इसे ठीक कराने की कृपा की जाए ।

गोड्डा कृषक प्रतिनिधि ने कहा कि पहली बार ऐसा हो रहा है की बजट बंद कमरे में ना होकर खुले में बन रही है उन्होंने कहा कि गोड्डा में राइस मिल की स्थापना की जाए तथा मीट प्रोसेसिंग यूनिट खोले जाय। गोड्डा के शिक्षा प्रतिनिधि ने अपने सुझाव में कहा कि गोड्डा जिले में शिक्षा की समुचित व्यवस्था की जाए शिक्षा नीति को लागू किया जाए तथा विक्रय शिक्षा नीति समाप्त किया जाए । गोड्डा के छात्र प्रतिनिधि ने कहा कि हमारे कॉलेज में मेन पावर की कमी है जिसके कारण छात्र-छात्राओं को पढ़ाई में परेशानियों का सामना करना पड़ता है इसके लिए इस बजट में ऐसा कोई प्रावधान किया जाए जिससे हमारे कॉलेज में मेन पावर की कमी ना हो और हमें कॉलेज में एक बेहतर माहौल मिल सके । उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था पर जोर देने के लिए मुख्यमंत्री श्री  दास से आग्रह किया अनुसूचित जनजाति के गोड्डा से आए प्रतिनिधि ने कहा कि जिले में पेयजल की व्यवस्था , प्रधानमंत्री आवास योजना आवासीय विद्यालय की चारदीवारी सब की व्यवस्था जल्द से जल्द ठीक कराई जाए।
देवघर से आए प्रतिनिधि ने कहा कि बालिकाओं के लिए छात्रावास की व्यवस्था।

देवघर जिले से आए कृषक प्रतिनिधि ने कहा कि धान का क्रय नवंबर से शुरू हो। अनुदान की राशि दोगुना कृषकों को मिले तथा पैक्स से राशि उन्हें अविलंब मिल जाए। देवघर जिला से आए शिक्षा के प्रतिनिधि ने कहा कि देवघर की पहचान सांस्कृतिक राजधानी से भी है । प्रसाद योजना , स्वदेश योजना को लागू किया जाए। देवघर शहर को आकर्षक रुप दिया जाए । शहर को चमकाने का कार्य किया जाए। देवघर शहर में प्रवेश के दौरान प्रवेश तोरणद्वार बनाया जाए। पुराने भवनों का जीर्णाद्धार कराया जाए। मंदिर तक पहुंचने वाले रास्तों को चमकाया जाए। शिवगंगा और कांवरिया पथ का सौंदर्यकरण कराया जाए ।

देवघर जिले से आए छात्र प्रतिनिधि ने कहा कि स्कूलों की स्थिति को सुधारा जाए स्कूलों में शिक्षकों की कमी है इस पर विचार किया जाए।
उद्योग संघ देवघर से आए प्रतिनिधि ने कहा कि विद्युत की आपूर्ति में सुधार होने से देवघर जिले के उद्योग में सुधार आएगा सरकार कोई ऐसा प्रावधान करें कि विद्युत की आपूर्ति हमें सुचारू ढंग से मिले ।

जामताड़ा जिले से आए महिला प्रतिनिधि ने कहा कि जलापूर्ति योजना का लाभ हमें भी पाइप लाइन के माध्यम से मिले हमें भी शुद्ध पेयजल की व्यवस्था का लाभ मिल सके आदिवासी बच्चों के लिए एकलव्य विद्यालय की के लिए सोचा जाए कोल की फैक्ट्री की स्थापना नाला में किया जाए।

जामताड़ा जिले से आए कृषक प्रतिनिधि ने कहा के तालाब की व्यवस्था सिंचाई के लिए की जाए ताकि मछली पालन भी कर कृषक के जीवन स्तर में सुधार आए। पुराने तालाब का रिनोवेशन किया जाए । बिजली किसानों को 6 घंटे फ्री मिले ताकि हम किसान अच्छी फसल उपजा कर आयात नहीं झारखंड से निर्यात करें । जिले को एक कोल्ड स्टोरेज भी दिया जाए ताकि किसानों को अपनी फसल रखने में परेशानी ना हो । जामताड़ा से आए शिक्षा के प्रतिनिधि ने कहा कि जामताड़ा में पीजी की पढ़ाई अविलंब शुरू कराई जाए । जामताड़ा जिला उद्योग के प्रतिनिधि ने कहा कि छोटे उद्योग जिले में लगाए जाए ताकि जिले में विकास को एक नई ऊंचाई मिले तथा जामताड़ा में पुलिस लाइन की भी व्यवस्था की जाए।

दुमका से आए कृषि के प्रतिनिधि ने कहा कि दुमका जिले में बाबा बासुकीनाथ के मंदिर होने से फूल की काफी मांग होती है लेकिन हमारे यहां फूल की कोई खेती नहीं होती फूल की खेती के लिए इस बजट में कोई प्रावधान किए जाए इसकी इसे बढ़ावा दिया जाए किसानों को सहायता दिया जाए बैंक और बीमा को दुरुस्त किया जाए ताकि बैंक आसानी से लोन दे ।

महिला प्रतिनिधि ने कहा कि सेनेटरी पैड को टैक्स फ्री किया जाए । दुमका में छात्रावास की जरूरत है इस पर ध्यान दिया जाए उच्च शिक्षा के लिए महिलाओं के लिए फंड की व्यवस्था की जाए तथा नर्सिंग कॉलेज की स्थापना की जाए । दुमका जिला के छात्र प्रतिनिधि ने कहा कि पूरे यूनिवर्सिटी में लाइब्रेरी नहीं है इसकी व्यवस्था की जाए तथा हेल्थ सेंटर की व्यवस्था की जाए ।

चेंबर ऑफ कॉमर्स दुमका के प्रतिनिधि ने कहा कि रेशम कोकून की खेती सबसे अधिक दुमका जिले में होती है दुमका को सिल्क नगरी बनाने का कार्य राज्य सरकार करें । इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पाकुड़ जिला के बच्चों से भी उनकी राय जाने इस अवसर पर कस्तूरबा गांधी की विद्यालय कस्तूरबा गांधी विद्यालय की बच्चियों ने कहा कि कस्तूरबा गांधी विद्यालय में टीचर की कमी है इसे पूरा किया जाए प्रयोगशाला नहीं है उसे भी ठीक करने की कृपा की जाए।

–  बिनोद कुमार दास, ग्राम समाचार पाकुड़।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>