PAK डिफेंस का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड, भारतीय लड़की की फेक इमेज की थी पोस्ट

rak-fake-delhiग्राम समाचार, नई दिल्ली। सोशल मीडिया में फर्जी तस्वीर पोस्ट कर भारत के खिलाफ प्रोपेगेंडा करने पर ट्विटर ने PAK डिफेंस के वेरिफाइड अकाउंट को सस्पेंड कर दिया। न्यूज एजेंसी के अनुसार , कुछ दिन पहले @defencepk नाम के हैंडल से भारतीय स्टूडेंट कवलप्रीत कौर की फोटोशॉप्ड तस्वीर पोस्ट की गई थी। लड़की ने अपनी फोटो से छेड़छाड़ की शिकायत ट्विटर से की, जिसके बाद ट्विटर ने यह कार्रवाई की। हालांकि, कुछ दिन पहले पाक डिफेंस ने फोटो हटा ली थी। बता दें कि पाकिस्तान पहले भी झूठी तस्वीरों के जरिए भारत की इमेज खराब करने की कोशिश कर चुका है। सितंबर में भी दुनिया के सामने उसके झूठ की पोल खुली थी।
लड़की ने प्लेकार्ड पर क्या लिखा था?
उल्लेखनीय है कि,  कवलप्रीत ने भारत में गाय ले जाने वाले लोगों को पीट-पीटकर मार डालने की घटनाओं पर जून, 2017 में चले कैंपेन ‘नॉट इन माय नेम’ में हिस्सा लिया था। ओरिजनल फोटो में प्लेकार्ड पर कवलप्रीत ने लिखा था, –  ”मैं एक भारतीय नागरिक हूं, जो अपने धर्मनिरपेक्ष संविधान के साथ खड़ी हूं। मुस्लिमों को पीटकर मार डालने के खिलाफ लिखती रहूंगी।”
तस्वीर में लिखे मैसेज को छेड़छाड़ कर बदला गया और पाक डिफेंस ने इसे ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया। इसमें ऐसी लाइनें लिखी गईं, जो भारत के बारे में गलत मैसेज दे रही थीं।
यूएन असेंबली को भी फर्जी तस्वीर से गुमराह किया था
बताते चलें कि,  सितंबर में पाकिस्तानी एम्बेसडर मलीहा लोधी ने भी यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली (UNGA) में एक फर्जी तस्वीर को कश्मीर की बताकर दुनिया को गुमराह किया था। तब वे यूएन में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की स्पीच का जवाब दे रही थीं।
इस दौरान मलीहा ने गाजा वॉर में जख्मी हुई एक लड़की (राविया अबु जमा) की तस्वीर यूएन असेंबली में दिखाई थी। दरअसल, पाकिस्तान इसके जरिए जम्मू-कश्मीर में लोगों पर भारत के अत्याचार का दावा करने की कोशिश कर रहा था।
पाकिस्तान ने दिखाई थी गाजा वॉर विक्टिम की फोटो
इसके कुछ ही घंटों में तस्वीर की सच्चाई दुनिया के सामने आ गई और पाकिस्तान की जमकर किरकिरी हुई। दरअसल, जिस तस्वीर को पाकिस्तान कश्मीरी लड़की के तौर पर पेश कर रहा था वो 2014 के इजरायली हवाई हमले में जख्मी राविया निकलीं।
विवाद बढ़ने के बाद इस फोटो को खींचने वाली अमेरिकी फोटो जर्नलिस्ट हैदी लेविन भी सामने आई थीं। उन्होंने पाकिस्तान के दावों को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया था।

(एजेंसी)