भावान्तर भरपाई योजना के तहत एक दिवसीय कैंप का आयोजन

ग्राम समाचार न्यूज़ रेवाड़ी {हरियाणा} जिला बागवानी विभाग रेवाडी के तत्वाधान में जिला के भुरथला गांव में वीरवार को भावान्तर भरपाई योजना के तहत एक दिवसीय कैंप का आयोजन किया गया। जिला उद्यान अधिकारी डा. पिंकी यादव ने सरकार द्वारा चलाई जा रही भावान्तर भरपाई योजना के बारे में भुरथला व आस-पास गांवों के किसानों को विस्तार से जानकारी दी। डा. पिंकी ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में लगातार प्रयास जारी है। इसी कडी में अनेक प्रकार की योजनाएं लागू कर किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत किया जा रहा है। उन्होने कहा कि बागवानी किसानों की आय बढाने के उदेश्य से भावान्तर भरपाई योजना लागू की गई है। जिसके तहत आलू, प्याज, गोभी व टमाटर की फसलो के निर्धारित संरक्षित मुल्य घोषित किए गए है। उन्होंने बताया कि योजना का उदेश्य इन फसलो के भाव कम होने के जोखिम से बचाकर उनको फसल विविधिकरण की तरफ जोडना है। इस अवसर पर मार्केटिंग बोर्ड रेवाडी के विजेन्द्र व अमित कुमार ने बताया कि इन फसलों के दाम कम होते है, तो सरकार भावन्तर भरपाई योजना के तहत किसानों की भरपाई करेगी। कोई भी बागवानी किसान योजना का लाभ उठाना चाहता है तो वह मार्केटिंग बोर्ड की वैबसाईट बागवानी भावान्तर ई पोर्टल के माध्यम से अपना पंजीकरण करवा सकता है। पंजीकरण करवाने संबंधी सुविधा के लिए मार्केटिंग बोर्ड कार्यालय में हेल्प डेस्क स्थापित किया गया है। जहाँ पर किसान जाकर अपना नि:शुल्क पंजीकरण करवा सकता है। इसके अलावा किसान अतिरिक्त बागवानी विभाग, कृषि विभाग, ई-दिशा केंद्र पर भी अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। उद्यान विकास अधिकारी डा. प्रेम कुमार यादव ने बताया कि टमाटर व प्याज की फसल के लिए 15 फरवरी तक भावान्तर भरपाई योजना के तहत संरक्षित मूल्य बारे पंजीकरण करवा सकते है। उन्होने बताया कि पंजीकरण के बाद उद्यान विभाग द्वारा किसानो के आवेदन को सत्यापन किया जाएगा। यदि किसान अपने पंजीकरण के सत्यापन से संतुष्ट नहीं है तो वे इस बारे अपील भी कर सकता है। उन्होंने बताया कि टमाटर व प्याज बारे आवेदन सत्यापन बारे असंतुष्टि की अपील 25 मार्च तक की जा सकती है।
Loading...