लाल मिर्च खाने से है इतने फायदे, नही जानते होंगे आप

 

ग्राम समाचार, एजेंसी। खाने में कड़वी मिर्च में कई तरह के उपयोगी तत्‍व पाए जाते हैं जैसे अमीनो एसिड, एस्कार्बिक एसिड, फोलिक एसिड, सिट्रिक एसिड, मैलिक एसिड, मैलोनिक एसिड आद‍ि। लाल मिर्च में हरी मिर्च के मुकाबले कई गुना ज्‍यादा फायदेमंद गुण होते है।

पेट समस्याएं

अधिक मसालेदार और तीखा खाने से पेट की कईं समस्याएं हो जाती हैं। पेट की अंदरूनी सतह पर सूजन आ जाती है, एसिडिटी और अल्सर की समस्या हो जाती है।

अधिक नींद को भगाए

अधिक नींद आने पर पांच-पांच बूंद सुबह, शाम एक चम्मच पानी में मिलाकर भोजन से पहले पी लें।

हैजा में असरदार

हैजा के मरीजों को लाल मिर्च के पानी कि दस-दस बूंद एक चम्मच तजा पानी में हर आधे घंटे में देने से लाभ होता है।

अल्सर में मददगार

लाल मिर्च आंतों में होने वाली सिकुड़न को कम करके अल्‍सर के इलाज में मदद करता है। साथ ही लाल मिर्च विभिन्न गैस्ट्रिक समस्याओं और ऐंठन के इलाज में मदद करता है जिससे पाचन सही रहता है।

मोटापा कम करें

लोग लाल मिर्च को सेहत के लिए अच्‍छा नहीं मानते, लेकिन ब्रिटेन में हुए एक शोध के अनुसार, मिर्च शरीर में कैलोरी जलाने में मददगार साबित हो सकती है। मिर्च में मौजूद कैप्सासिन तत्व भूख कम कर सकता है और कैलोरी को जलाते हुए एनर्जी के लेवल को बढ़ाता है।

बदहजमी को करें दूर

बदहजमी, भूख की कमी होने पर पांच-पांच बूंद पानी में मिलकर भोजन से पहले पी लें।

दाद-खाज खुजली में फायदेमंद

त्‍वचा में किसी भी तरह के चर्म रोग होने पर इसके इस्‍तेमाल से राहत मिलती है। बदन में दाद-खाज या खुजली होने पर सरसों के तेल में लालमिर्च पाउडर गर्म करके और फिर इस तेल को ठंडा करके छान कर पूरे बदन पर या खुजली वाले स्थान पर लगाने से फायदा होता है।

बालों को चमकाएं

लाल मिर्च ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार करता है जिससे रूखे और बेजान बालों में नई जान आ जाती है साथ ही इसके सेवन से बालों को बढ़ने में भी मदद मिलती है। अगर आप बालों की समस्‍या से परेशान है तो अपने आहार में लालमिर्च को सेवन करना शुरू कर दें।

फोड़े-फुंसियों में लाभकारी

फोड़े-फुंसियों पर लाल मिर्च तेल में पीस कर लगाने से आराम मिलता है।

पेट दर्द रखे दूर

पेट दर्द होने पर पीसी हुई लाल मिर्च गुड़ में मिलाकर खाने से लाभ होता है।

कैंसर से बचाता है

कैंसर को रोकने में मदद करना, लाल मिर्च का सबसे महत्‍वपूर्ण लाभ है। यह हमारे शरीर, फेफड़े और अग्न्याशय में मौजूद कैंसर कोशिकाओं को मारता है। इसमें मौजूद कैप्सासिन तत्‍व के कारण ही लाल मिर्च ऐसा कर पाती है।

गर्भवती महिलाएं कम खाएं

मसालेदार खाने से भूख समाप्त हो जाती है, बुखार भी हो सकता है, मसूड़ों में सूजन और नाक से खून भी निकल सकता है। मिर्च और मसाला गर्भवती महिलाओं और बवासीर के रोगियों को बिलकुल नही खाना चाहिए।

ज्यादा खाने से नींद कम आएगी

ज्यादा तीखा भोजन हमारी टेस्ट बड को काफी नुकसान पहुंचाता है।मसाले जैसे प्याज, लहसुन, मिर्च आदि अधिक मात्रा में खाने से सांस की बदबू की समस्या हो जाती है। मसाले गर्म होते हैं। ये शरीर का ताप बढ़ा देते हैं जिससे अनिद्रा की समस्या हो जाती है।