सभी पदाधिकारी कर्तव्यनिष्ठा व समर्पण भाव से कार्य करें- मुख्यमंत्री

raghuwar dasग्राम समाचार पाकुड़ (झारखंड)।   झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास की अध्यक्षता में संथाल परगना प्रमंडल के आयुक्त, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस उपमहानिरीक्षक समेत सभी 6 जिलों दुमका, देवघर, जामताड़ा, पाकुड़, साहिबगंज एवं गोड्डा के उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक,उप विकास आयुक्त, स्वास्थ्य विभाग के सिविल सर्जन,कृषि विभाग के पदाधिकारी इत्यादि के साथ समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

माननीय मुख्यमंत्री  रघुवर दास ने बैठक को संबोधित करते हुए सभी उपायुक्तों को यह निर्देश दिया है कि सभी पदाधिकारी समर्पण भाव से कार्य करें। जनता की सेवा करें।सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए कर्तव्यनिष्ठा से कर करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के लक्ष्य को ससमय पूरा करने के लिए लगातार प्रखंड विकास पदाधिकारी के साथ समीक्षा करते रहें। जिले के उपायुक्त की जिम्मेवारी होगी कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बनने वाले मकान की गुणवत्ता बेहतर हो साथ ही लाभुकों को किसी तरह बिचौलिया से परेशानी नहीं।

मुख्यमंत्री ने उज्ज्वला योजना अंतर्गत गरीब परिवारों को मिलने वाले गैस कनेक्शन एवं चूल्हा के वितरण में विशेष सावधानी बरतने का निर्देश दिया है। इस संबंध में सभी जिला आपूर्ति पदाधिकारी एवं मार्केटिंग ऑफिसर के साथ लगातार समीक्षा करने का निर्देश दिया है। इस वर्ष मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत की गई है इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए सभी जिलों के सिविल सर्जन को यह निर्देश दिया गया है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस योजना का लाभ पहुंचाएं। प्रखंड समन्वयक पंचायत स्तर पर मॉनिटरिंग करेंगे और ग्रामीणों को स्वास्थ्य बीमा योजना की जानकारी उपलब्ध कराएंगे।108 एंबुलेंस योजना के क्रियान्वयन के लिए सभी उपायुक्त के निर्देश दिया गया है इस एंबुलेंस को व्यापक सर्वेक्षण कर सही स्थल पर खड़ा किया जाए ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस योजना का लाभ मिल सके।

मुख्यमंत्री ने स्वरोजगार पर विशेष जोर देते हुए कहा कि ग्रामीणों का स्किल डेवलपमेंट कर उन्हें स्वरोजगार के लिए प्रेरित करें ताकि संताल परगना में पलायन की समस्या पर पूरी तरह खत्म किया जा सके। ग्रामीण विकास विभाग द्वारा ब्लॉक कोऑर्डिनेटर के माध्यम से सुदूरवर्ती गांव के लोगों खासकर आदिवासी समुदाय को एवं दलित समुदाय को आवश्यकतानुसार स्वरोजगार के विभिन्न माध्यमों से आर्थिक संपन्नता लाने की जानकारी दी जाएगी। ब्लॉक कोऑर्डिनेटर के माध्यम से आदिवासी ग्राम विकास समिति का गठन किया जाएगा और प्रत्येक गांव के 3 साल का विलेज एक्शन प्लान तैयार किया जाएगा ताकि ग्रामीणों की आवश्यकतानुसार योजनाओं का चयन किया जा सके। गांव के विकास के लिए बनाई जा रही योजनाओं के पैसा सीधे ग्राम समिति को ट्रांसफर किया जाएगा।

संताल परगना के 2 पिछड़े जिले पाकुड़ एवं साहिबगंज के लिए माननीय मुख्यमंत्री ने दोनों जिलों के उपायुक्त को शिक्षा स्वास्थ्य सड़क बिजली रोजगार इत्यादि के पैमानों का सर्वे कर एक रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया है ताकि दोनों जिलों के लिए कार्य योजना तैयार कर आवश्यक कार्रवाई की जा सके।

मुख्यमंत्री ने स्वच्छ भारत अभियान, राजस्व संग्रहण, सोलर फार्मिंग, सामाजिक सुरक्षा, आदिम जनजाति के विकास की योजनाओं की भी समीक्षा की। जिला कृषि पदाधिकारियों को यह निर्देश दिया गया है कि वह गांव जाकर किसानों के साथ किसान चौपाल लगाकर किसानों को आधुनिक तकनीक की खेती की जानकारी दें। उन्होंने स्वाइल हेल्थ कार्ड, फसल बीमा योजना इत्यादि की भी समीक्षा की।

इस अवसर पर सरकार के मुख्य सचिव   राजबाला वर्मा ,विकास आयुक्त   अमित खरे, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य   सुधीर त्रिपाठी, प्रधान सचिव स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग   अमरेंद्र प्रताप सिंह, प्रधान सचिव पेयजल एवं स्वच्छता विभाग   आराधना पटनायक, प्रधान सचिव ग्रामीण विकास विभाग   अविनाश कुमार, माननीय मुख्यमंत्री के सचिव   सुनील कुमार वर्णवाल समेत सभी वरीय पदाधिकारी गण उपस्थित थे।

–  बिनोद कुमार दास, ग्राम समाचार पाकुड़।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>