प्रदेश के सभी जिलों में वर्ष 2018 में 935 से उपर होना चाहिए लिंगानुपात : डा.राकेश गुप्ता

ग्राम समाचार न्यूज़ रेवाड़ी {हरियाणा} : मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव राकेश गुप्ता ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में लिंगानुपात की स्थिति में काफी सुधार हुआ हैं। इस स्थिति को निरंतर बरकरार रखने के साथ-साथ सभी जिलों का वर्ष 2018 के लिए लिंगानुपात 935 से उपर ले जाने का लक्ष्य भी निर्धारित किया हैं। डा. राकेश गुप्ता ने बताया कि प्रदेश के उन 9 जिलों में जहां लिंगानुपात का आकडा 925 को पार कर चुका है उनके लिए 950 का लक्ष्य निर्धारित किया हैं। अतिरिक्त प्रधान सचिव राकेश गुप्ता मंगलवार को देर सायं चंड़ीगढ़ से वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से अधिकारियों की एक बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने पीएनडीटी एक्ट/एमटीपी के बारे में रिव्यू करते हुए कहा कि वर्ष 2018 में सभी जिलों के लिंगानुपात के उपर ओर अधिक फोकस रहेगा। पूरे प्रदेश का लिंगानुपात 940 से उपर लाने के लिए सभी जिलों के अधिकारियों को एक टीम वर्क के रुप में काम करना होगा। वर्ष 2017 में सभी जिलों के अधिकारियों ने लिंगानुपात को सुधारने में अच्छा कार्य किया और सभी बधाई के पात्र हैं। किसी भी जिले में कोई दिक्कत नहीं आ रही हैं। इसके बावजूद उन्होंने कुछ जिलों पर चर्चा करते हुए कहा कि 3 से 4 जिलों में और अधिक फोकस करने की जरुरत है ताकि वहां पर लिंगानुपात की स्थिति में ओर अधिक सुधार हो सके। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आदेशानुसार पूरे प्रदेश में लिंगानुपात को लेकर सख्ती का माहौल है, जिसके चलते अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। इतना ही नहीं सरकार का बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं अभियान एक यज्ञ की तरह है। इस यज्ञ में सभी अधिकारियों को अपने सहयोग की आहुति डालनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि जो भी अधिकारी या कर्मचारी किसी गलत व्यक्ति का सहयोग करेगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। सभी जिला उपायुक्त अपने-अपने जिलों में निरंतर निगरानी करेंगे और अदालतों में लम्बित मामलों में दोषियों को सजा दिलवाने में अधिकारियों का मनोबल बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि रेवाडी जिले में गत तीन माह के दौरान लिंगानुपात में काफी सुधार हुआ है। जिसके लिए जिला प्रशासन की टीम बधाई की पात्र है। उपायुक्त  पंकज ने बताया कि उक्त अवधि में जिले में पांच रैड की गई और इस क्षेत्र में आगे भी सुधार का कार्यक्रम जारी रहेगा। उन्होंने सीएम विंडो की शिकायतों की समीक्षा करते हुए कहा कि कुछ जिलों में नगराधीश अच्छा कार्य कर रहे हैं, जिसमें रेवाडी में भी सीएम विंडो के माध्यम से अच्छा कार्य हुइा है। उन्होंने सीएम विंडो के लम्बित मामलों को शीघ्र अति शीघ्र निपटाने के निर्देश देते हुए कहा कि अधिकारी इन पर पूरी नजर रखे और जो भी शिकायतें आती है उनका शीघ्र समाधान करें। इसके उपरांत उन्होंने सक्षम, ओडीएफ, अपैरेन्टिस, सडक सुरक्षा पर भी समीक्षा की। इस मौके पर उपायुक्त पंकज, पुलिस अधीक्षक संगीता कालिया, अतिरिक्त उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार, मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी मृदुल धर, सीईओ जिला परिषद आशीष कुमार, डीआरओ मानव मलिक, डीडीपीओ डा. एसी कौशिक, डीएसपी सतपाल व गजेन्द्र सिंह, डीईओ धर्मबीर बल्डोदिया, ईओ नगरपरिषद मनोज यादव सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
Loading...