25 करोड़ की पुरानी करेंसी बरामद, चार गिरफ्तार

25 crore old currency recovered, four arrestedग्राम समाचार, नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद मेरठ पुलिस ने पुरानी करेंसी का बड़ा जखीरा बरामद किया है। कंकरखेड़ा पुलिस टीम ने परतापुर थाना क्षेत्र में दिल्ली रोड स्थित राजकमल एंक्लेव में बिल्डर संजीव मित्तल के कार्यालय पर छापा मार कर 25 करोड़ की पुरानी करेंसी बरामद की।

इस मामले में पुलिस ने बिल्डर के तीन नौकर सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। एसएसपी मंजिल सैनी सहित अन्य अधिकारियों ने भी मौके पर पहुंचकर आरोपियों से पूछताछ की।

एसएसपी का कहना है कि पुलिस की गिरफ्त में आए शख्स ने खुद को दिल्ली के एनजीओ से जुड़ा होने का दावा कर पुलिस को बताया कि वह एनजीओ संचालक के कहने पर ही पुरानी करेंसी की इस खेप को नई करेंसी में बदलने की डील करने यहां पहुंचा था। फिलहाल फरार बिल्डर की धरपकड़ में पुलिस टीमें जुटी हैं।

इनकम टैक्स के एक अधिकारी ने बताया कि विभाग की टीमें बिल्डर के कार्यालय और मकान पर पहुंच कर जांच में जुट गई हैं। दोनों को जल्दी ही सील कर दिया जाएगा। वहीं पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर इस गोरखधंधे का पूरा नेटवर्क खंगालने में जुटी है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया, आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों को पूरे मामले की जानकारी दी गई है।

जिला पुलिस कप्तान मंजिल सैनी ने जानकारी दी कि मिली सूचना के आधार पर कंकरखेड़ा थाना प्रभारी निरीक्षक दीपक शर्मा के नेतृत्व में पुलिस टीम कई दिनों से सर्विलांस के माध्यम से अपराधियों की टोह लेने में मशगूल रही। इसी पड़ताल के दौरान सामने आये तयों के आधार पर शुक्रवार को पुलिस टीम ने परतापुर क्षेत्र में दिल्ली रोड स्थित राजकमल एन्क्लेव में बिल्डर संजीव मित्तल के मकान संख्या सी-1 पर छापा मारा। इस भवन में संजीव मित्तल का कार्यालय संचालित हो रहा था। पुलिस टीम तब दंग रह गयी जब इस कार्यालय में प्लास्टिक के बोरों में 1000 व 500 की पुरानी करेंसी का जखीरा मिला। पुलिस ने मोैके से बिल्डर संजीव मित्तल के तीन नौकर अरुण गुप्ता (ब्रजविहार परतापुर), योगेश कुमार (पांचली), विनोद शर्मा (ब्रह्मपुरी) और नरेश अग्रवाल द्वारिका (दिल्ली) को हिरासत में लिया।

(एजेंसी रिपोर्ट)