20 साल पुरानी किसानों की मांग पूरी, 20 जनवरी को करेगे नये शुगर मिल का शिलान्यास

gslogoग्राम समाचार न्यूज़ : करनाल {हरियाणा} :  शुगर फैड हरियाणा के चेयरमैन चन्द्रप्रकाश कथूरिया ने कहा कि करनाल की जनता की 20 साल पुरानी शुगर मिल बनाने की मांग को मुख्यमंत्री मनोहर लाल 20 जनवरी को करीब 225 करोड रुपये की लागत से 3500 टीडीसी क्षमता की नई आधुनिक शुगर मिल लगाकर पूरा करेगें। इस शुगर मिल के लगने से मुख्यमंत्री की किसानों के लिए एक विशेष सौगात होगी। करनाल की जनता शुगर मिल परिसर में 20 जनवरी को शिलान्यास के समय इस सौगात के लिए मुख्यमंत्री का आभार प्रकट करेगी।

बुधवार को शुगर फैड हरियाणा के चेयरमैन चन्द्रप्रकाश कथूरिया ने शुगर मिल गेस्ट हॉऊस में आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने करनाल के किसानों के लिए नई मिल मंजूर करके एक ओर नायाब तोहफा दिया है। इस मिल का मुख्यमंत्री द्वारा 20 जनवरी को शुगर मिल परिसर से शिलान्यास किया जाएगा और शिलान्यास के बाद एक साल की अवधि में इसका निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। इस मिल की क्षमता 3500 टीडीसी होगी और उसके बाद इसकी क्षमता को 5000 टीडीसी तक बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसानों की इस मांग को कई मुख्यमंत्रियों ने पूरा करने का आश्वासन दिया परन्तु पूरा करने की जहमत नही उठाई। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल से केवल शुगर मिल के नवीनीकरण मांग रखी गई थी, मुख्यमंत्री इस मांग को मानते हुए कहा कि इस मिल का नवीनीकरण नही इसको अलग से नया बनाया जाएगा, यह मुख्यमंत्री की दूरगामी सोच का परिणाम है।

चेयरमैन ने पत्रकारों को बताया कि नया मिल बन जाने से प्रतिदिन 60 लाख क्विंटल तक की गन्ने की पिराई की जाएगी। यह मिल आधुनिक तकनीक से तैयार होगी, इस मिल में रिफाईंड शुगर प्लांट भी लगाया जाएगा जोकि प्रदेश का ऐसा पहला मिल होगा। उन्होंने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए बताया कि नये मिल बनने से नजदीक के गांव में राखी की समस्या नही होगी। उन्होंने बताया कि पुराना शुगर मिल नये शुगर मिल के तैयार होने तक ऐसे ही चलता रहेगा।

घरौंडा विधायक एवं हैफेड के चेयरमैन हरविन्द्र कल्याण ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 225 करोड रुपये की लागत से बनने वाले नये शुगर मिल देकर उन्होंने किसान हितैषी होने का जनता को प्रमाण दिया है उन्होंने कहा 20 साल पहले प्रदेश के ऐसे मुख्यमंत्री रहे जो अपने आपको किसान हितैषी होने का ढिंडोरा पिटते थे परन्तु किसानों को केवल राजनीति के लिए प्रयोग किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बिना किसी औपचारिकता के  किसानों की मांग को पूरा किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कम बोलते है और काम ज्यादा करते है। उन्होंने कहा कि इस मिल में घरौंडा विधानसभा क्षेत्र के 80 प्रतिशत किसान अपना गन्ना लाते है। माना जाता है कि शुगर मिल का शरीर करनाल में है और आत्मा घरौंडा विधानसभा में।

भाजपा के जिला अध्यक्ष जगमोहन आनन्द ने प्रेसवार्ता में कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा किसानों की सुविधा के लिए नया शुगर मिल बनाने की मंजूरी दी है। इस मिल के बनने से क्षेत्र के किसानों को काफी लाभ मिल सकेगा। मुख्यमंत्री ने बिना भेदभाव के काम किया है। उन्होंने कहा कि 20 जनवरी को शुगर मिल परिसर में करीब 25 हजार लोग जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित करके मुख्यमंत्री का आभार प्रकट करंेगे, जिन्होंने किसानों की जीवन रेखा शुगर मिल के लिए इतनी बडी सौगात दी है।