सभी कालों में प्रासंगिक हैं गांधी के विचार:डॉ रंजीत, निबंध प्रतियोगिता में बीएससी की छात्रा अनामिका को मिला पहला स्थान

पाकुड़। साहिबगंज महाविद्यालय में विश्वविद्यालय के निर्देश पर राष्ट्रीय सेवा योजना के तत्वावधान में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में कई कार्यक्रम आयोजित किये गए। गुरुवार को महाविद्यालय के बीएड भवन में छात्र-छात्राओं के बीच वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। “डिबेट का विषय सदन की राय में गांधी के विचार आज भी प्रासंगिक हैं” रखा गया था। वाद-विवाद प्रतियोगिता में कॉलेज के छात्र – छात्राओं ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। पक्ष और विपक्ष में छात्रों ने अपनी बात रखी। कार्यक्रम की अध्यक्षता रसायन शास्त्र के शिक्षक डॉ वकील पोद्दार ने की। जबकि एनएसएस के कार्यक्रम समन्वयक व भूविज्ञान विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ रंजीत कुमार सिंह ने कार्यक्रम का संयोजन और संचालन किया। वाद -विवाद प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका में राजनीति विज्ञान के सहायक प्रोफेसर डॉ दीपक कुमार दिनकर, बीएड के शिक्षक नितिन कुमार आदि थे। मौके पर कार्यक्रम समन्वयक डॉ रंजीत कुमार सिंह ने कहा कि गांधी शांति, एकता, सहिष्णुता और भाईचारे के पर्याय हैं। गांधी के विचार सभी कालों में प्रासंगिक हैं। गांधी न केवल अतीत हैं वरन वर्तमान और भविष्य भी हैं। गांधीवाद के मार्ग पर चलकर ही समस्त मानवता का कल्याण संभव है। डॉ रंजीत ने कहा कि गांधी सिर्फ एक व्यक्ति ही नहीं बल्कि एक महान विचार और विचारधारा हैं।

वहीं, कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजनीति विज्ञान के शिक्षक डॉ दीपक कुमार दिनकर ने कहा कि महात्मा गांधी सामाजिक समरसता के अग्रदूत थे। गांधी के राजनीतिक विचारों का प्रभाव काफी व्यापक और वैश्विक है। गांधी मार्ग ही समाज को एक नई दिशा प्रदान कर सकता है। गांधी एक ऐसे पवित्र धागे के समान हैं जो इस बिखरे हुए समाज को एक सूत्र में पिरो सकते हैं।

गुरुवार को आयोजित किये गए वाद -विवाद प्रतियोगिता में विपक्ष में आकांक्षा झा और पक्ष में नौशीन परवीन को विजेता घोषित किया गया। जबकि, निबंध प्रतियोगिता में बीएससी पार्ट-2 की छात्रा अनामिका कुमारी को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। निवन्ध में बीएससी सेमेस्टर थ्री की छात्रा नमिता ने अनामिका को कड़ी टक्कर दी। सभी प्रतियोगिताओं में विजयी छात्र – छात्राओं को विश्वविद्यालय स्तर पर आयोजित होने वाले प्रतियोगिता में शामिल किया जाएगा।

कार्यक्रम समन्वयक डॉ रंजीत कुमार सिंह ने बताया कि गांधी जी की 150 वीं जयंती के पूर्व विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। छात्र- छात्राओं और जनमानस को बापू के जीवन दर्शन की जानकारी मिल सके। उन्होंने बताया कि 27 सितम्बर को साहिबगंज महाविद्यालय में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

 

      – विनोद कुमार, ग्राम समाचार, पाकुड़, झारखंड।