गांधी का चिंतन और दर्शन समाज के लिए अनुकरणीय : प्राचार्य

gandhi jiग्राम समाचार,साहिबगंज। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वीं जयंती के पूर्व मंगलवार को साहिबगंज महाविद्यालय में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।

प्राचार्य डॉ०सिकंदर प्रसाद यादव ने कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा कि साहिबगंज महाविद्यालय में शैक्षणिक गतिविधियों के साथ-साथ छात्रों में सृजनात्मक,सकारात्मक व बौद्धिक ज्ञानों का संचार होता है, गांधी का जीवन दर्शन व चिंतन समाज के लिए अनुकरणीय है। भारतीय समाज वरन समूचा विश्व आज जिन चुनौतियों का सामना कर रहा है उसमें गांधी का विचार पहले से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण और प्रासंगिक होकर उभरा है।

सभी कालों में प्रासंगिक हैं गांधी के विचार : डॉ०रंजीत कुमार सिंह
कार्यक्रम समन्वयक व भू विज्ञान विभाग के सहायक प्रोफेसर सह समन्वयक डॉ०रणजीत कुमार सिंह ने कहा की आज वर्त्तमान समय में छात्रों-युवाओं के साथ-साथ सबों के लिए गांधी के विचार उनका आदर्श,संघर्ष,सादगी व मानवता के लिए एक ध्येय वाक्य होना चाहिए।
कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि गांधी के विचारों और आदर्शों को जन-जन तक पहुंचाया जाएगा ताकि जनमानस में उनके महत्वपूर्ण अस्त्र सत्य और अहिंसा का बोध हो सके। महात्मा गांधी अतीत ही नहीं वरन वर्तमान और भविष्य भी हैं।

gandhi ji“बापू” के जीवन दर्शन पर निबंध,क्विज और पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित साहिबगंज महाविद्यालय में मंगलवार को बापू के जीवन दर्शन पर छात्र -छात्राओं के बीच विविध प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें निबंध, क्विज व पेंटिंग प्रतियोगिता शामिल हैं। प्रतियोगिता में दर्जनों छात्रों ने भाग लिया।
क्विज प्रतियोगिता में छात्र काफी उत्साहित थे। कार्यक्रम में विशेषकर इन्टर के प्रथम वर्ष के छात्रों ने निर्णायक मण्डली को प्रभावित किया।
निर्णायक मंडल में कार्यक्रम समन्वयक डॉ० रणजीत कुमार सिंह के अलावे राजनीति विज्ञान के डॉ०दीपक कुमार दिनकर,डॉ०रूपा,नितीन कुमार,सोनू फ्रांसीस मुर्मू,ज्योति किस्कू,प्रशांत कुमार भारती,प्रसन्नजीत कुमार दास आदि शामिल थे।

-ग्राम समाचार,साहिबगंज।