नदी मेें पुल निर्माण की आस मेें सिकंदरपुर के ग्रामीण

बांका जिला के बौंसी प्रखंड का सिकंदरपुर गांव आज सुविधाओं के अभाव में है। मूल रूप से ये एक पंचायत भी है परंतु इस गाँव में नदी में कोई पुल नहीं है और पुल के अभाव में इस गांव का विकास संभव नहीं है कई बार ग्रामीण पुल की मांग कर चुके हैं परंतु इस क्षेत्र पर आज तक किसी का ध्यान नहीं गया और यही कारण है कि यह क्षेत्र आज भी इस समस्या से जूझ रहा है।
बारिश के समय में इस नदी में इतना पानी आ जाता हैं कि लोग नदी को पार नहीं कर पाते है और यदि इस बीच गांव के किसी भी व्यक्ति की तबीयत खराब हो जाती हैं तो उस समय गांव वालों को इंतजार करना पड़ता है कि कब नदी का जलस्तर कम हो और वो अपना इलाज करवा सके,ऐसी ही स्थिति का सामना गर्भवती महिलाओं को भी करना पड़ता है क्योंकि इस क्षेत्र में अस्पताल भी 10 किलोमीटर की दूरी पर है,और इस दौरान गर्भवती महिलाओं को कमर-भर पानी मे डूब कर जाना पड़ता है।बच्चों को बरसात के समय भी नदी पार करके विद्यालय आना होता है। पुल के अभाव के कारण सिकंदरपुर के लोगो को अनेक प्रकार की दिक्कतें होती हैं ग्रामीणों से बातचीत के क्रम में पता चला कि वे इस बात को लेकर कई बार जनप्रतिनिधियों से भी वार्ता कर चुके हैं परंतु अब तक इस संबंध में सिर्फ आश्वासन ही मिला है पर आज तक कोई भी काम नहीं किया गया। बरसात के दिनों में इस नदी में कम से कम 2 महीनों तक पानी भरा रहता है और इन 2 महीनों तक गांव में आवागमन बाधित हो जाता हैं ऐसी स्थिति में लोगों को नदी पार करके जाना होता है।ग्रामीणों की मांग है कि सिकंदरपुर में भी जल्द से जल्द एक पुल बनना चाहिए ताकि इस क्षेत्र का भी विकास हो।

सुनील ठाकुर, ग्राम समाचार, श्याम बाजार