पुत्रवधु के साथ दुष्कर्म का प्रयास करने के मामले मे ससुर, तथा साथ देने पर पति भी गिरफ्तार

ग्राम समाचार न्यूज़ : रेवाड़ी (हरियाणा) : अपने ही बेटे की पत्नी पर बुरी नजर रखते हुए दुष्कर्म का प्रयास करने वाले ससुर को तथा इस मामले मे अपने पिता का साथ देने वाले पुत्र को भी बीती शाम महिला थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों कीे पहचान कसौला थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी सुनील कुमार पुत्र मूलचन्द व मूलचन्द पुत्र धनसिंह के रूप मे हुई है। पीडिता ने अपने पति, ससुर व सास पर मारपीट करने तथा दुष्कर्म का प्रयास करने का अरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस को दी शिकायत मे बताया कि वह राजस्थान के जिला झुंझूनु के एक गांव की रहने वाली है। 13 जुलाई 2008 को उसकी शादी कसौला थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी मूलचन्द के बेटे सुनील कुमार के साथ हिन्दु रिति रिवाज के अनुसार हुई थी। शादी के बाद पीडिता ने तीन लडकियों को जन्म दिया था। लडकिया होने के बाद गर्भवति होने पर पीडिता का गर्भ परीक्षण उपरान्त उसकी इच्छा के विरूध गर्भपात भी कराया गया तथा विरोध करने पर उसके साथ मारपीट की जाती रही। जून 2017 को उसका पति सुनील कुमार किसी दूसरी औरत को घर लेकर आ गया, तथा पूछने पर कहने लगा कि यह मेरी दूसरी पत्नी है। और मेरे साथ मारपीट की और कमरे मे बन्धक बना कर रखने लगा। 12 अक्टुबर 2017 को पीडिता के ससुर मूलचन्द ने उसे पकड लिया और जबरदस्ती दुष्कर्म का प्रयास किया। जब मैने इसका विरोध किया तो मेरे साथ मारपीट करते हुए जान से मारने की घमकी दी। इसके बाद 23 अक्टुबर 2017 को आरोपी मूलचन्द ने पीडिता को फिर पकड लिया और फिर से दुष्कर्म करने का प्रयास किया। लेकिन पीडिता ने शोर मचाते हुए बडी मुश्किल से आरोपी के चंगुल से अपने आप को बचाया। इसके बाद भी आरोपी ससुर ने पीडिता को धमकी दी कि इस घर मे रहना होगा तो उसके साथ संबंध बनाने होगे। पीडिता ने जब इस बारे मे अपने पति सुनील कुमार व सास को बताया तो उन्होने भी उसके साथ मारपीट करते हुए कहा कि तुझे ऐसा ही करना होगा। पुलिस ने पीडिता की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ दुष्कर्म का प्रयास सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर बीती शाम आरोपी पति व ससुर को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों को आज अदालत मे पेश किया जाएगा।