भारतीय जनता पार्टी का बाबूलाल पर पलटवार

gslogoग्राम समाचार, रांची (झारखंड)।  भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेश कुमार शुक्ल ने कहा कि झारखंड विकास मोर्चा सुप्रिमो एवं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी राज्य में तेजी से हो रहे विकास एवं रोजगार सुलभ कराने के राज्य सरकार के अभियान से पूरी तरह विचलित हो चुके हैं। इसलिए वे राज्य सरकार के विरुद्ध भ्रामक एवं अर्नगल आरोप लगा रहे हैं। झारखंड में मुख्यमंत्री रघुवर दास के कुशल नेतृत्व में झारखंड में मोमेंटम झारखंड में बड़े-बड़े उद्योगपतियों ने राज्य सरकार से एमओयू किए। आज 300 तक एमओयू मूर्तरूप ले चुके हैं जिससे राज्य के बेरोजगार युवकों को रोजगार मिल रहा है। बाबूलाल मरांडी राज्य सरकार की उपलब्धियों को नहीं देख रहे हैं बल्कि अपने विपक्षी चश्मे से राज्य के लोगों में भ्रम फैलाना चाहते हैं। राज्य की जनता अब ऐसे विपक्षी नेताओं के मनसूबे को सुमझ चुकी है।

राजेश कुमार शुक्ल ने कहा है कि राज्य में स्किल समिट में 27,842 को रोजगार राज्य सरकार ने पूरी पारदर्शिता के साथ राज्य के लोगों को समर्पित कर किया है, इसमें कोई न तो भेदभाव हुआ है और न ही राज्य सरकार ने फिजूल खर्ची ही की है। यह तो मरांडी की अपनी सोच है तथा मरांडी सहित सभी विपक्षी दल राज्य के विकास एवं प्रगति को विपक्षी चश्मे से देखते हैं। राज्य के व्यापक हित में नहीं देखते है, न ही राज्य के विकास की सोच उनके पास है। राज्य में स्किल विश्वविद्यालय खोलने के राज्य सरकार की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा है कि

राज्य सरकार का प्रति वर्ष राज्य के 1 लाख युवाओं को प्रशिक्षित कर उन्हें रोजगार सुलभ कराने का संकल्प निश्चित रूप से राज्य को आत्मनिर्भर बनाएगा। इससे राज्य के लोगों में प्रसन्नता है। इससे राज्य से जहां पलायन रूकेगा, वहीं ग्रामीण क्षेत्र में भी लोग समृद्धिशाली बनेंगे। बाबू लाल मरांडी का बयान पूरी तरह अमर्यादित है। राज्य सरकार ने जो भी मोमेंटम झारखंड में एमओयू तथा स्किल समिट किया, उसके परिणाम सकारात्मक है। विपक्ष को इस पर नकारात्मक राजनीति से परहेज करना चाहिए। भारत सरकार के केन्द्रीय एवं पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस सह कौशल विकास मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान के उस घोषणा का भी स्वागत किया है जिसमें झारखंड में पाईप लाईन सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन, बारलिग प्लांट टर्मिनल शुरू करने की घोषणा की गई है, वहीं अगले दो-तीन माह में 6-7 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं धरातल पर उतारने के निर्णय से भी राज्य में औद्योगिकरण का मार्ग प्रशस्त होगा तथा रोजगार के पर्याप्त अवसर बढ़ेंगे।

उन्होंने मुख्यमंत्री रघुवर दास के प्रगतिशील एवं अनुभवी नेतृत्व की प्रशंसा करते हुए कहा है कि इस वर्ष राज्य में 24 लाख एलपीजी गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य राज्य सरकार का प्रशंसनीय एवं स्वागत योग्य है। वहीं बोकारो धर्मा पाइप लाइन, ओएनजीसी के कोल बेड मिथेन ब्लाक, बीपीसीएल, एचपीसीएल एवं आईओसीएल के डिपो, एलपीजी प्लांट, बरलिग प्लांट की क्षमता बढ़ाने, सिंदरी खाद कारखाना शुरू करने पर सरकार का प्रयास राज्य के व्यापक हित में है। भारतीय जनता पार्टी पूरे देश के साथ झारखंड के विकास के लिए कृतसंकल्पित है तथा सबका साथ सबका विकास के मंत्र को मूर्त रूप दे रही है। जिससे झारखंड आज देश के विकसित राज्य में शुमार हो चुका है।

–  कुमुद रंजन, ग्राम समाचार रांची (झारखंड)।