….अब यात्रियों व गरीबों को नहीं पड़ेगा ठिठुरना, प्रशासन देगा गर्म कंबल और रहने को आश्रय

ग्राम समाचार न्यूज़ रेवाड़ी  {हरियाणा} : जिलाभर में अब बाहर से आने वाले यात्रियों, झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले गरीब मजदूरों व आशियाना रहित लोगों को ठंड में नहीं मरना पड़ेगा। जिला प्रशासन द्वारा ठंड के प्रकोप को देखते हुए ऐसे लोगों के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। जिला उपायुक्त पंकज के निर्देशानुसार जिला में सभी राष्ट्रीय राजमार्गों, स्टेट हाईवे, लिंक रोड व शहरी सड़कों पर फुटपाथ पर रात गुजारने वाले गरीब लोगों को ठंड से बचाने के लिए रैनबसेरों में सुविधायुक्त कमरों में आश्रय दिया जाएगा। इस ठंडरोधी अभियान को लेकर जिला उपायुक्त ने आज अधिकारियों को निर्देश दिए कि सायं 8 बजे से लेकर लेकर रात्रि 12 बजे तक सड़कों पर से लोगों की तलाश करें जो ठंड से ठिठुर रहे हों व उनके पास रात गुजारने के लिए कोई व्यवस्था न हो। ऐसे लोगों को तुरंत सरकारी गाडिय़ों में बैठाकर रैनबसेरों में ले जाया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए रैनबसेरों में ठहरने वाले लोगों के लिए कंबल, रजाई आदि गर्म वस्त्रों की पूरी व्यवस्था करें, वहीं लोगों के लिए खानपान का विशेष ध्यान रखें। उन्होंने जिला रेडक्रॉस सचिव वाजिद अली को निर्देश दिए कि जब तक कड़ाके की ठंड पड़े तब तक वे प्रतिदिन रात्रि 11 बजे तक उपायुक्त कार्यालय को प्रतिदिन रिपोर्ट पेश करें। उपायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि ठंड से प्रकोपित लोगों को कंबल मुहैया करवाए ताकि किसी व्यक्ति को ठंड से किसी प्रकार हानि न पहुंचे। उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन के पर्याप्त कंबल हैं। ऐसे में किसी भी व्यक्ति को परेशान होने की अवश्यकता नहीं है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे सायं 8 बजे से लेकर रात्रि 12 बजे तक रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड का मुआयना करें और अगर किसी व्यक्ति के पास रहने और खाने के लिए व्यवस्था न हो तो तुरंत उन्हें गर्म कंबल प्रदान करें व रैनबसेरों में उनके ठहरने की उचित व्यवस्था की जाए। उपायुक्त ने कहा कि जब तक कड़ाके की ठंड रहेगी तक तक प्रशासन की गाड़ी रात्रि के समय गाड़ी में कंबल लेकर सड़कों पर रहेगी तथा जहां भी आवश्यकता होगी वहां पर कंबल दिए जाएंगे तथा उनको रहने के लिए रैनबसेरे तक गाड़ी से छोड़ा जाएगा। उपायुक्त ने नगर परिषद व नगरपालिकाओं के सचिवों को निर्देश दिया कि वे अपने अपने क्षेत्रों में सभी रैनबसेरों की व्यवस्था को जांचे अगर रैनबसेरों में किसी प्रकार की खामी नजर आए तो तुरंत उसे दूर करवाएं ताकि रैनबसेरों में ठहरने वाले यात्रियों को किसी प्रकार का समस्या न हो। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को रैनबसेरों में ठहराया जाए या जिन लोगों को कंबल दिए जाएं उसकी रिपोर्ट तैयार करवाकर प्रतिदिन उपायुक्त कार्यालय को भिजवाई जाए। उपायुक्त ने कहा कि किसी भी व्यक्ति को कड़ाके की ठंड से परेशान नहीं होने दी जाएगा।

राजेश शर्मा : ग्राम समाचार न्यूज़ : रेवाड़ी (हरियाणा)