अडानी पावर प्लांट : रैयतों ने असहमति पत्र पर फर्जी दस्तखत का लगाया आरोप

ग्राम समाचार, गोड्डा : झारखंड के गोड्डा जिला में अडानी पावर प्लांट बैठाने को लेकर रैयतों ने असहमति पत्र पर फ़र्ज़ी हस्ताक्षर का आरोप लगाया है| जिला अपर समाहर्ता अनिल कुमार तिर्की से मुलाकत करने के दौरान रैयतों ने आरोप लगाया है कि असहमति पत्र पर उनके फ़र्ज़ी हस्ताक्षर दिखाए गए, जबकि वे पावर प्लांट के पक्ष में हैं और अपनी जमीन देने को तैयार हैं। रैयतों ने ज्ञापन में लिखा कि पूर्व में चिंतामणि साह द्वारा प्लांट के विरोध में कुछ रैयतों के कथित असहमति पत्र कार्यालय में जमा कराए थे, बाद में पता चला कि उस पत्र में हमारे हस्ताक्षर भी दर्शाए गए थे, जबकि हमने कोई दस्तखत किए ही नहीं थे।

इससे उस पूरे कथित असहमति पत्र पर ही सवाल खड़े हो गए हैं। इन रैयतों ने फ़र्ज़ी दस्तखत के मामले में प्रशासन से कानूनी कार्रवाई करने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि फ़र्ज़ी तरीके से किसी का हस्ताक्षर करना न केवल कानूनी बल्कि नैतिक तौर पर भी गलत है और हमें इसकी आशा नहीं थी। रैयतों की मांग पर जिला अपर समाहर्ता ने जांच का भरोसा दिया। जिला समाहरणालय में जुटे इन रैयतों ने कहा कि वे अपने इलाके का विकास चाहते हैं और इसलिए जमीन देने के लिए पूर्व में ही सहमति दे चुके हैं, वे चाहते हैं कि पावर प्लांट जल्द से जल्द लगे इसलिए 85 प्रतिशत से ज्यादा रैयतों ने पहले ही सहमति दे दी है।

गौरतलब है कि 1600 मेगावाट के इस अत्याधुनिक प्लांट का शिलान्यास इसी साल अक्टूबर में संभावित है और 25 प्रतिशत बिजली झारखंड को दिए जाने की बात कहि जा रही है। रैयतों ने ये भी कहा कि कुछ लोग जान बूझकर भ्रम फैला रहे हैं। उपस्थित रैयतों में मोतिया, पटवा, गायघाट, सोनडीहा, माली व गंगटा के अवधेश कुमार साह, माया देवी, अरुणा देवी, हरि यादव, हड़वी पंजियारा, गणेश प्रसाद सह, राजेंद्र प्रसाद साह, श्रवण कुमार, गौतम कुमार, कौशल कुमार साह, छत्तीस यादव, रंजन यादव, दीपक मंडल, बैसाखी यादव आदि शामिल थे।

                        – प्रीतम कुमार , ग्राम समाचार, (गोड्डा)